देहरादून। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार की है। उन्होेंने कहा कि होली के बाद पार्टी चुनाव नतीजों की समीक्षा करेगी। अपनी कमियों से सबक लेकर कांग्रेस नई ऊर्जा के साथ आगे बढ़ेगी। उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज्यहित में मनसा वाचा कर्मणा कार्य करने का संकल्प लेकर आगे बढ़ रही थी। जनता ने एक अच्छा अवसर खो दिया।
उन्होंने कहा कि पार्टी मंथन करेगी और हार की समीक्षा भी करेगी। कहा कि अगर हाईकमान कहेगा तो वह अपना पद छोड़ने को भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता का आभार व्यक्त करता हूं। परिणाम हमारे पक्ष में नहीं आए, लेकिन हम मंथन करेंगे। सभी कार्यकर्ताओं ने पूरी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि हम जनता के हितों के लिए हमेशा लड़ते रहेंगे। गोदियाल ने बताया कि मैंने पूरे प्रदेश में जब दौरा किया तो
उसके बावजूद परिणाम ऐसे देखने को मिले। मैं खुद भी नहीं समझ पाया। इसलिए हम भी मंथन करेंगे कि क्या कारण रहे। उन्होंने कहा कि विपक्षी केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर वोट मांग रहे थे, लेकिन प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री और विधायक की जगह नहीं आएंगे। विपक्ष को सरकार बनाने पर बधाई। फैसला हमारे पक्ष में नहीं आया, लेकिन हम राज्य के हित में काम करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.