चार घंटे पहले पहुंचना होगा एयरपोर्ट

0
47

नई दिल्ली। लॉकडाउन-4 में घरेलू विमान सेवा की इजाजत मिल गई है। जगह-जगह फंसे लोग ट्रेन के अलावा अब विमान से भी अपने मूल राज्य पहुंच सकेंगे। क्योंकि, यात्रियों के लिए दिल्ली एयरपोर्ट खोलने की इजाजत मिल गई है। कोरोना महामारी की वजह से एयरपोर्ट पर कई नियमों का पालन किए बिना विमान से यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। हालांकि, अब यात्रियों को एयरपोर्ट पर दो घंटे की जगह चार घंटे पहले पहुंचना होगा। एक लगेज से ज्यादा अगर आपके पास सामान है तो यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।

सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर उन्हें ही अनुमति मिलेगी जो वेब-चेकिंग करके पहुंचेंगे। यानी, इंटरनेट के माध्यम से यात्रियों को बोर्डिंग पास का प्रिंट आउट लेकर एयरपोर्ट पहुंचना होगा। एयर इंडिया के आईटी विभाग ने इस तरह की तैयारी की है। विमानन कंपनियों के स्टाफ से दूरी बनाने के लिए इस तरह के नियम तैयार किए गए हैं। हालांकि, अभी विमानन कंपनियों को नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के आदेश का इंतजार है। मंत्रालय के तरफ से जारी आदेश में 25 मई से सिर्फ घरेलू उड़ान की इजाजत दिल्ली एयरपोर्ट से मिली है। फिलहाल अंतरराष्ट्रीय उड़ान पर रोक रहेगी। हालांकि, इस बीच देश में बाहर के फंसे लोगों के लिए एयर इंडिया स्पेशल उड़ान चला रहा था।
एयरपोर्ट और विमान में रखना होगा खास ध्यान
-सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना होगा।
-कोरोना के लक्षण दिखने पर यात्री को नहीं मिलेगी यात्रा की अनुमति।
-दो सीट के बीच एक सीट सोशल डिस्टेंसिंग के लिए खाली रहेगी।
-आरोग्य सेतु एप यात्रियों के लिए अनिवार्य।
दिल्ली एयरपोर्ट की तैयारी पूरी
दिल्ली एयरपोर्ट पर कामर्शियल उड़ान की तैयारी पूरी हो गई है। टर्मिनल-थ्री के अंदर उन एरिया की पहचान की गई जहां से यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ प्रवेश दिया जाएगा और बैठने की व्यवस्था रहेगी। पहले की तरह यात्री टर्मिनल एरिया में नहीं घूमेंगे और ना ही शॉपिंग करेंगे। एरोब्रिज, शौचालय, लाउंज, रेस्तरां की सूची बना ली गई है। यात्रियों की संख्या के अनुसार इसका प्रयोग किया जाएगा। एयरपोर्ट की पार्किंग और वीआईपी पार्किंग का सैनिटाइजेशन किया गया है। यात्रियों के लगेज को सैनिटाइज करने के लिए यूवी यानी अल्ट्रावॉयलट किरणों से सैनिटाइज करने की टनल तैयार है। 300 से अधिक क्यू मैनेजर की टीम तैयार की गई है। क्यू मैनेजर का काम होगा कि यात्रियों को टर्मिनल के अंदर प्रवेश कराए, फिर सीआईएसएफ जांच करने और फ्लाइट में बैठते वक्त उन्हें फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाते रहे। कुर्सियों पर निशान बनाया गया है। 6 लाख 8 हजार वर्ग मीटर में फैले एयरपोर्ट टर्मिनल को सैनिटाइज किया गया है। 500 लोगों की टीम इस कार्य में जुटी है। कोरोना संदिग्ध यात्रियों को आइसोलेट किया जाएगा। इसके लिए एक जोन तैयार किया गया है। टर्मिनल में घुसने वाले सभी एंट्री प्वाइंट पर अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात किया जाएगा। थर्मल स्कैनिंग के बगैर किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here