दिल्ली की मस्जिदों में अजान पर नहीं रोक, विवाद के बाद दिल्ली पुलिस और उपमुख्यमंत्री की सफाई

0
8

कोरोनावायरस से पूरा देश लड़ाई लड़ रहा है और इसके असर को देखते हुये पूरे देशभर में लॉकडाउन लागू है। इस बीच दिल्ली पुलिस का एक वीडियो सामने आ रहा है, जिसमें दिल्ली पुलिस के जवान रमजान में अजान देने के लिये मना कर रहे हैं।

इस वीडियो के अनुसार, दिल्ली के प्रेम नगर इलाके से दिल्ली पुलिस के 2 जवान एक मस्जिद के मौलाना से कह रहे हैं कि अजान नहीं दे सकते हो, हमें लेफ्टिनेंट जनरल के आदेश है। वहीं पास में खड़े लोग दिल्ली पुलिस के जवानों से कह रहे हैं कि इकट्ठा होने के लिये मना किया है, अजान के लिये नहीं।

दिल्ली अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष जफर उल इस्लाम ने आईएएनएस से बात करते हुये कहा, डीसीपी द्वारका और डीसीपी रोहिणी को मैंने इस मामले पर खत लिखा है और पूछा है कि अगर आपके पास इस तरह के ऑर्डर्स है तो वो हमें दिखाएं।

जफर उल इस्लाम ने कहा, हमने अजान के मामले में अलग से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और लेफ्टिनेंट जनरल को भी खत लिखा है, क्योंकि ये मुनासिब नहीं है रमजान के समय में।

इस मामले पर बढ़ते विवाद को देखते हुये दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा, अजान के लिए कोई पाबंदी नही है। लॉकडाउन में मस्जिदों में नमाज के लिए इकट्ठा होने या किसी अन्य धार्मिक स्थल पर पूजा आदि के लिए लोगों के इकट्ठा होने पर पूरी तरह पाबंदी है।

आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्लाह खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर यह वीडियो शेयर करते हुए कहा, क्या एलजी साहब ने दिल्ली पुलिस को यह आर्डर दिया है कि रमजान में दिल्ली की मस्जिदों में अजान नहीं होगी, इस मुद्दे पर मेरी दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात हुई वह इस मुद्दे को देख रहे हैं, मेरी एलजी साहब से यह दरख्वास्त है कि दिल्ली को और घाव न दें, हम सब एक साथ मिलकर रहना चाहते हैं।

दिल्ली पुलिस की तरफ से भी इस मामले पर सफाई देते हुये ट्वीट किया गया है, जिसमें कहा गया है, रमजान का पवित्र महीना 25 तारीख से शुरू हो रहा है, और हम उम्मीद करते हैं, सभी गाइडलाइन्स के अनुसार लॉकडाउन का पालन करेंगे। अजान को एनजीटी के दिशा निर्देशों के हिसाब से किया जा सकता है। सभी से गुजारिश है कि नमाज घरों में ही पढ़े, हम सब एक साथ हो कर कोविड 19 के खिलाफ लड़ें।

कोरोनावायरस से पूरा देश लड़ाई लड़ रहा है और इसके असर को देखते हुये पूरे देशभर में लॉकडाउन लागू है। इस बीच दिल्ली पुलिस का एक वीडियो सामने आ रहा है, जिसमें दिल्ली पुलिस के जवान रमजान में अजान देने के लिये मना कर रहे हैं।

इस वीडियो के अनुसार, दिल्ली के प्रेम नगर इलाके से दिल्ली पुलिस के 2 जवान एक मस्जिद के मौलाना से कह रहे हैं कि अजान नहीं दे सकते हो, हमें लेफ्टिनेंट जनरल के आदेश है। वहीं पास में खड़े लोग दिल्ली पुलिस के जवानों से कह रहे हैं कि इकट्ठा होने के लिये मना किया है, अजान के लिये नहीं।

दिल्ली अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष जफर उल इस्लाम ने आईएएनएस से बात करते हुये कहा, डीसीपी द्वारका और डीसीपी रोहिणी को मैंने इस मामले पर खत लिखा है और पूछा है कि अगर आपके पास इस तरह के ऑर्डर्स है तो वो हमें दिखाएं।

जफर उल इस्लाम ने कहा, हमने अजान के मामले में अलग से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और लेफ्टिनेंट जनरल को भी खत लिखा है, क्योंकि ये मुनासिब नहीं है रमजान के समय में।

इस मामले पर बढ़ते विवाद को देखते हुये दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करके कहा, अजान के लिए कोई पाबंदी नही है। लॉकडाउन में मस्जिदों में नमाज के लिए इकट्ठा होने या किसी अन्य धार्मिक स्थल पर पूजा आदि के लिए लोगों के इकट्ठा होने पर पूरी तरह पाबंदी है।

आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्लाह खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर यह वीडियो शेयर करते हुए कहा, क्या एलजी साहब ने दिल्ली पुलिस को यह आर्डर दिया है कि रमजान में दिल्ली की मस्जिदों में अजान नहीं होगी, इस मुद्दे पर मेरी दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात हुई वह इस मुद्दे को देख रहे हैं, मेरी एलजी साहब से यह दरख्वास्त है कि दिल्ली को और घाव न दें, हम सब एक साथ मिलकर रहना चाहते हैं।

दिल्ली पुलिस की तरफ से भी इस मामले पर सफाई देते हुये ट्वीट किया गया है, जिसमें कहा गया है, रमजान का पवित्र महीना 25 तारीख से शुरू हो रहा है, और हम उम्मीद करते हैं, सभी गाइडलाइन्स के अनुसार लॉकडाउन का पालन करेंगे। अजान को एनजीटी के दिशा निर्देशों के हिसाब से किया जा सकता है। सभी से गुजारिश है कि नमाज घरों में ही पढ़े, हम सब एक साथ हो कर कोविड 19 के खिलाफ लड़ें।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here