यूपी: चार दिन बाद होनी थी शादी, दोस्त ने गोली मारकर की हत्या, लाश देख घर में मातम में बदली खुशियां

0
55

Updated Fri, 15 May 2020 12:10 AM IST

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के एक घर में चार दिन बाद शहनाईयां बजनी थी, लेकिन दोस्तों संग विवाद के बाद घर में मातम छा गया । शराब पीने के दौरान हुए विवाद में दोस्त ने युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। युवक गांव के चौकीदार का बेटा था। चार दिन बाद उसकी शादी होनी थी। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, जबकि मुख्य आरोपी फरार है।

घटना शहर की सीमा से जुड़े मटौंध थाना क्षेत्र के भूरागढ़ गांव की है। बुधवार की रात करीब 10.30 बजे चौकीदार चुन्नू खंगार के 22 वर्षीय पुत्र प्रमोद खंगार को पड़ोस में रहने वाले उसके दो दोस्त साथ ले गए। घर से चंद कदम दूरी पर तीनों ने एक साथ बैठकर शराब पी। इसी बीच किसी बात पर आपस में विवाद हो गया। इसी दौरान नशे में धुत दोस्त ने प्रमोद को 315 बोर तमंचा से गोली मार दी।

गोली सीने में लगी। इसके बाद दोनों दोस्त भाग निकले। गोली की आवाज सुनकर पहुंचे परिजन और ग्रामीण प्रमोद को तत्काल जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई थी। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम कराया है। भाई राजकुमार ने बताया कि प्रमोद दो भाइयों में छोटा था।

महोबा में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था। लॉकडाउन की वजह से वह घर पर ही रह रहा था। 18 मई को अतर्रा में उसकी शादी तय थी। शादी की तैयारियां चल रही थीं। पिता चुन्नू की तहरीर पर मटौंध थाने में पड़ोसी अनिल यादव और चंद्रप्रकाश को नामजद किया है।

अपर पुलिस अधीक्षक एलबीके पाल ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और परिजनों व ग्रामीणों से पूछताछ की। मटौंध थाना इंस्पेक्टर रामेंद्र तिवारी ने बताया कि नामजद आरोपी चंद्रप्रकाश को गिरफ्तार कर लिया गया है। अनिल यादव की तलाश में टीमें लगाई गई हैं।

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के एक घर में चार दिन बाद शहनाईयां बजनी थी, लेकिन दोस्तों संग विवाद के बाद घर में मातम छा गया । शराब पीने के दौरान हुए विवाद में दोस्त ने युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। युवक गांव के चौकीदार का बेटा था। चार दिन बाद उसकी शादी होनी थी। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, जबकि मुख्य आरोपी फरार है।

घटना शहर की सीमा से जुड़े मटौंध थाना क्षेत्र के भूरागढ़ गांव की है। बुधवार की रात करीब 10.30 बजे चौकीदार चुन्नू खंगार के 22 वर्षीय पुत्र प्रमोद खंगार को पड़ोस में रहने वाले उसके दो दोस्त साथ ले गए। घर से चंद कदम दूरी पर तीनों ने एक साथ बैठकर शराब पी। इसी बीच किसी बात पर आपस में विवाद हो गया। इसी दौरान नशे में धुत दोस्त ने प्रमोद को 315 बोर तमंचा से गोली मार दी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here