जौनपुर, बलिया, गाजीपुर और प्रतापगढ़ में बनेगी बीएसएल टू लैब, जांच का दायरा बढ़ाने की तैयारी

0
283

प्रदेश के सभी जिलों में जांच का दायरा बढ़ाने की तैयारी है। इसके तहत जौनपुर, बलिया, गाजीपुर और प्रतापगढ़ में बीएसएल टू लैब बनेगी। इससे इन जिलों में आरटीपीसीआर जांच आसान हो जाएगी।

प्रदेश के सभी जिलों में जांच का दायरा बढ़ाने की तैयारी है। इसके तहत जौनपुर, बलिया, गाजीपुर और प्रतापगढ़ में बीएसएल टू लैब बनेगी। इससे इन जिलों में आरटीपीसीआर जांच आसान हो जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच की स्थिति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रतिदिन ढाई लाख जांच का लक्ष्य हासिल किया जाए। 4 जिलों में लैब बनने से वहां जांच आसान हो जाएगी। लोगों को समय पर जांच रिपोर्ट मिल सकेगी। दूसरी तरफ आसपास के जिलों पर जांच का दबाव भी कम होगा।

कोरोना के लक्षण वालों को तत्काल मिलेगा इलाज

महानिदेशक डीएस नेगी ने बताया कि जिन लोगों को कोविड के लक्षण हैं पर उनकी कोरोना की रिपोर्ट नहीं आई है और ब्लड रिपोर्ट में कोरोना पाया गया है उन्हें तत्काल इलाज उपलब्ध कराने की रणनीति बनाई गई है। इसके तहत शासन को प्रस्ताव भेज दिया गया है। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं उनकी रिपोर्ट आने से पहले कोविड की दवाएं दे दी जाएंगी। इससे उनकी हालत गंभीर नहीं होगी।

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ डीएस नेगी ने बताया कि लक्षण वाले मरीज आईवर मेक्टिन-12 खाना खाने के बाद दिन भर में एक 3 दिन तक, एजिथ्रोमाइसिन-500 प्रतिदिन एक टेबलेट खाना खाने के बाद तीन दिन तक, डॉक्सी-100 सुबह-शाम 7 दिन तक, क्रोसिन-650 सुबह, दोपहर, शाम तीन दिन तक, लिम्सी सुबह, दोपहर, शाम 10 दिन तक, जिनकोनिया-50 सुबह-शाम 10 दिन तक ले सकते हैं। इसके साथ सुबह शाम गुनगुने पानी से गरारा करना है और भाप लेनी है। 8 घंटे की भरपूर नींद और 45 मिनट तक व्यायाम करना है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here