बुलंदशहर में 2 साधुओं की मंदिर परिसर में सोते वक्त हत्या, चिमटा चुराने के विवाद में नशेड़ी युवक ने वारदात को अंजाम दिया

0
4
  • पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया, दो दिन पहले ही उसपर साधुओं का चिमटा चुनाने का आरोप लगा था
  • बताया जा रहा है कि इसी बात को लेकर साधुओं और आरोपी के बीच बातचीत के दौरान विवाद हुआ था

बुलंदशहर. महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं की मॉब लिंचिंग के बाद अब उत्तर प्रदेश में साधुओं की हत्या की घटना सामने आई है। बुलंदशहर के अनूपशहर इलाके में दो साधुओं की मंदिर परिसर में सोते वक्त धारदार हथियार से हमला करके हत्या कर दी गई। वारदात में गांव के ही नशेड़ी युवक मुरारी का नाम सामने आया है। पुलिस हिरासत में लेकर उससे पूछताछ कर रही है।

यहां पगोना गांव में घटना के बाद बुलंदशहर एसएसपी समेत पुलिस के तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और साक्ष्य इकट्‌ठे किए। पुलिस का दावा है कि हिरासत में लिया गया आरोपी मुरारी लंबे समय से भांग के नशे का आदी है। आरोपी पर दो दिन पहले साधुओं का चिमटा चुराने का भी आरोप लगा था। इसी बात को लेकर साधुओं और आरोपी मुरारी के बीच कहासुनी हुई थी। इस दौरान आरोपी मुरारी ने दोनों साधुओं को अंजाम भुगत लेने की धमकी भी दी थी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी अभी नशे की हालत में है। दोनों संतो के शवों का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। घटनास्थल की फोरेंसिक जांच भी कराई गई।

एसएसपी ने कहा- चिमटे को लेकर विवाद हुआ था

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संतोष कुमार सिंह ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पाया गया है कि कुछ दिन पहले आरोपी ने साधुओं के एक सामान (चिमटा) को छीन लिया था, जिसके बाद साधुओं ने उसे डांटा था। इससे नाराज होकर आरोपी ने दोनों साधुओं की हत्या कर दी। मामले की जांच की जा रही है।

10 दिन पहले महाराष्ट्र में साधुओं की पीटकर हत्या की गई थी

इससे पहले महाराष्ट्र के पालघर में 16-17 अप्रैल की दरमियानी रात दो साधुओं और उनके ड्राइवर की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। ग्रामीणों ने चोर के शक में तीनों की पिटाई की थी। मौके पर पुलिसकर्मी भी बेबस नजर आए थे। मामले में 100 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here