अब तक 2.14 लाख मौतें: अमेरिका में संक्रमितों का आंकड़ा 10 लाख के पार; 12 हजार कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है ब्रिटिश एयरवेज

0
12
  • एशियन डेवलपमेंट बैंक ने संक्रमण से निपटने के लिए भारत को 1.5 बिलियन डॉलर ( करीब 11 हजार करोड़ रुपए) के कर्ज को मंजूरी दी

वॉशिंगटन. दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 31 लाख 06 हजार 700 लोग संक्रमित हैं। दो लाख 14 हजार 645 की मौत हो चुकी है, जबकि नौ लाख 44 हजार 593 ठीक हो चुके हैं। अमेरिका में मंगलवार देर रात संक्रमण के मामले 10 लाख से ज्यादा हो गए। 10 अप्रैल को यह आंकड़ा पांच लाख था। यानी 8 दिन में मरीज दोगुने से ज्यादा हो गए। दूसरी तरफ, कोरोनावायरस का असर कारोबार पर साफ दिखने लगा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, आर्थिक संकट की वजह से ब्रिटिश एयरवेज 12,000 कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है।

एशियन डेवलपमेंट बैंक ने मंगलवार को संक्रमण से निपटने के लिए भारत को 1.5 बिलियन डॉलर ( करीब 11 हजार करोड़ रुपए) के कर्ज को मंजूरी दे दी। यह रकम बीमारी की रोकथाम और आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग की सामाजिक सुरक्षा पर खर्च होगी। एडीबी के अध्यक्ष मात्सुगु असकावा ने कहा कि हम इस चुनौती से निपटने में भारत का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

  • दुनियाभर के एयरपोर्ट सूने 

कोरोनावायरस के चलते दुनियाभर में हवाई यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। पश्चिमी देशों में अमेरिका पर भी इसकी मार नजर आ रही है। यहां साउथ डकोटा और मैरीलैंड जैसे हवाई अड्डे सूने पड़े हैं। कभी बेहद भीड़भरे रहने वाले इन हवाई अड्डों पर अधिकांश दुकानें भी बंद हैं। यहां अब मुठ्ठीभर मुसाफिर ही पहुंच रहे हैं। यात्रियों की बेहद कम संख्या की वजह से उनकी तुरंत सुरक्षा जांच करके बोर्डिंग पास इश्यू किए जा रहे हैं, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 10,22,259 57,862 1,39,927
स्पेन 2,32,128 23,822 1,23,903
इटली 2,01,505 27,359 68,941
फ्रांस 1,65,842 23,239 45,513
जर्मनी 1,59,239 6,177 1,17,400
ब्रिटेन 1,57,149 21,092 उपलब्ध नहीं
तुर्की 1,14,653 2,992 38,809
रूस 93,558 867 8,456
ईरान 92,584 5,877 72,439
चीन  82,836 4,633 77,555

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

अमेरिका : सबसे ज्यादा मामले
अमेरिका में मंगलवार देर रात संक्रमण के मामले 10 लाख से ज्यादा हो गए। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी है। यहां अब कुल मरीज 10 लाख 2 हजार 498 हो गए हैं। 10 अप्रैल को यह आंकड़ा पांच लाख था। यानी 8 दिन में मरीज दोगुने से ज्यादा हो गए।

सऊदी अरब: अब 20 हजार केस
सऊदी अरब सरकार ने मंगलवार रात एक बयान जारी किया। इसमें बताया गया है कि देश में संक्रमण के कुल मामले 20 हजार से ज्यादा हो गए हैं। कुल 152 लोगों की मौत हो चुकी है। 24 घंटे में 1266 मामले सामने आए। इसी दौरान आठ लोगों की मौत हुई।

रूस : लॉकडाउन 11 मई तक बढ़ाया
राष्ट्रपति पुतिन ने मंगलवार को लॉकडाउन 11 मई तक बढ़ा दिया। पहले यह 30 अप्रैल तक था। यहां सरकार इसे ‘नॉन वर्किंग टाइम’ कहती है। इसी दौरान पुतिन ने देशवासियों को चेतावनी दी कि देश अब तक कोरोना संक्रमण के पीक यानी चरम पर नहीं पहुंचा है। पॉजिटिव केस के मामले में रूस इस वक्त दुनिया का आठवीं पायदान पर है। यहां करीब 94 मामले हैं। पुतिन ने यह भी माना कि देश में प्रोटेक्टिव इक्युपमेंट्स की मामूली कमी है और इसे जल्द दूर कर लिया जाएगा।

ब्रिटेन : ब्रिटिश एयरवेज में छंटनी के आसार
कोरोनोवायरस के चलते आए आर्थिक संकट की वजह से ब्रिटिश एयरवेज 12,000 कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है। सीएनएन ने इस एयरलाइन्स कंपनी के हवाले से यह जानकारी दी है। कंपनी के मुताबिक, उसने अपनी ट्रेड यूनियन को बता दिया है कि हालात को देखते हुए री-स्ट्रक्चरिंग का प्लान बनाया गया है। इससे 12 हजार कर्मचारी प्रभावित हो सकते हैं। खास बात ये है कि कंपनी 22 हजार 626 कर्मचारियों को पहले ही अस्थायी छुट्टी पर भेज चुकी है। पहली तिमाही में कंपनी की कमाई 13 फीसदी कम रही। कंपनी के मुताबिक, 2019 की स्थिति में वापसी के लिए कई साल लग सकते हैं।

ब्रिटिश एयरवेज 12,000 कर्मचारियों की छंटनी कर सकती है।  कंपनी के मुताबिक, उसने ट्रेड यूनियन को इसकी जानकारी दे दी है। (फाइल)

इटली : अब दो लाख मामले

यहां मंगलवार को संक्रमितों का आंकड़ा दो लाख पार कर गया। इसमें मरने और स्वस्थ होने वालों लोगों की संख्या भी शामिल है। यह जानकारी देश की सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी ने एक बयान में दी। एजेंसी ने भी ये कहा कि सोमवार और मंगलवार को रोज होने वाली मौतों का आंकड़ा कम हुआ है।

फ्रांस : फुटबॉल सीजन रद्द
यहां हर साल होने वाला फुटबॉल सीजन इस साल नहीं होगा। प्रधानमंत्री एडुआर्ड फिलिप ने मंगलवार को संसद में इसकी जानकारी दी। फिलिप ने कहा- 2019-20 का फुटबॉल सीजन हम रद्द करने जा रहे हैं। वैसे फुटबॉल ही नहीं, उन सभी खेलों का आयोजन रद्द कर दिया गया है जिनमें दर्शकों की भागीदारी होती है और जिनमें खिलाड़ी एक दूसरे के करीब आते हैं यानी कॉन्टेक्ट होता है।

फ्रांस : पीएम बोले- हमारी तो इकोनॉमी बैठ जाएगी
प्रधानमंत्री एडुआर्ड फिलिप ने मंगलवार को संसद को संबोधित किया। कहा, “फ्रांस में अनिश्चतकाल के लिए स्कूल, कॉलेज और कैफे जैसे स्थानों को बंद नहीं किया जा सकता। ये तो जंग के दौरान भी नहीं हुआ। हालात बिगड़ते हैं तो हमारे पास निपटने के साधन हैं। वायरस के दूसरे दौर की आशंका है। हमें ऐहतियात के साथ जीना सीखना होगा। ज्यादा लंबा लॉकडाउन रहा तो अर्थव्यवस्था होने का खतरा है। ये वो समय है जब हर नागरिक सरकार के साथ खड़ा हो और जो नियम बनाए गए हैं। उनका पालन करे।”

पेरिस के सेंट डेनिस अस्पताल में ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर। यहां सरकार ने लॉकडाउन धीरे-धीरे हटाने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री का कहना है कि प्रतिबंध जारी रहने से अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान होने की आशंका है।

पुर्तगाल : आपातकाल हटेगा
राष्ट्रपति मार्सेलो रिबेलो ने साफ कर दिया है कि उनकी सरकार इसी हफ्ते राष्ट्रीय आपातकाल हटाने जा रही है। खास बात ये है कि कुछ दिन पहले उन्होंने ही इससे इनकार किया था। बहरहाल, मंगलवार को रिबेलो ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि भविष्य में हमें आपातकाल की जरूरत है। लेकिन, बहुत जरूरी हुआ तो विचार किया जाएगा। लोगों को ध्यान रखना होगा कि हम वायरस को कैसे रोक सकते हैं।”

लिथुआनिया : कैफे और रेस्टोरेंट्स खुलेंगे
सरकार ने बार और रेस्टोरेंट्स खोलने का फैसला किया। अब ये खुली जगह पर सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए कारोबार कर सकेंगे। यहां 44 मौतें हो चुकी है। 1344 संक्रमित हैं। इस हफ्ते से लॉकडाउन में ढील दी जानी शरू हो चुकी है। सरकार ने साफ कर दिया है कि कैफे और बार में हर टेबल के बीच 2 मीटर की दूरी होना जरूरी है। ये सिर्फ ओपन एरिया में ही सर्विस दे पाएंगे।

कोरोना वैक्सीन : 2021 तक आसान नहीं
यूरोपियन सेंटर फॉर डिसीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल (ईसीडीसी) के मुताबिक, 2021 के आखिर तक कोरोना वैक्सीन का तैयार होना मुश्किल है। संस्थान ने कहा, “वैक्सीन तैयार करना कठिन और काफी खर्चीला होता है। लेकिन, इसके कई जगह ह्यूमन ट्रायल्स चल रहे है। उम्मीद है कि ये सुरक्षित और काफी असरदार होंगे। वैक्सीन दुनिया के हिसाब से तैयार करने होंगे।”

अमेरिका : 74 हजार लोगों के मारे जाने की आशंका
वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर और सीनियर फैले डॉक्टर क्रिस मुरे ने कहा है कि कोरोना से अमेरिका में 60 से 74 हजार तक लोग मारे जा सकते हैं। अमेरिका में अब तक 56 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा दुनिया में हुई कुल मौतों के एक चौथाई से भी ज्यादा है।

फ्रांस के प्रधानमंत्री एडुआर्ड फिलिप मंगलवार को संसद को संबोधित करते हुए। फिलिप के मुताबिक- लॉकडाउन की वजह से देश में जो हालात हैं, वैसे तो जंग के दौरान भी नहीं रहे।

ब्रिटेन : पूर्व सैनिक को 12.5 लाख बर्थडे कार्ड
99 साल के पूर्व सैनिक टॉम मूर गुरुवार को 100वां जन्मदिन मनाएंगे। कुछ दिन पहले उन्होंने कोरोना पीड़ितों के लिए 36 मिलियन डॉलर जुटाए थे। जन्मदिन से पहले मूर को 12 लाख से ज्यादा बर्थडे कार्ड मिले हैं। मूर पिछले दिनों दुनिया की मीडिया में चैरिटी के लिए की गई पहल के लिए काफी चर्चा में रहे थे।

चीन : भारत का रवैया गलत
चीन की रैपिड टेस्टिंग किट्स के मानकों पर खरा न उतरने के वजह से भारत ने इनका ऑर्डर कैंसल कर दिया था। चीन ने मंगलवार को भारत के कदम को गलत और गैरजिम्मेदाराना बताया। दिल्ली स्थित चीनी दूतावास के प्रवक्ता जि रोंग ने कहा, “हमने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के फैसले को गंभीरता से लिया है। चीन एक्सपोर्ट किए जाने वाले मेडिकल प्रोडक्ट्स की क्वॉलिटी को बहुत महत्व देता है।”

चीन की राजधानी बीजिंग में मंगलवार को एक दुकान के बाहर खड़ी महिला और अंदर मौजूद स्टाफ। चीन सरकार के मुताबिक, वुहान और बीजिंग में कोई नया मामला सामने नहीं आया है। देश के ज्यादातर हिस्सों में कुछ प्रतिबंधों के साथ कारोबार शुरू किया जा चुका है।  

अमेरिका: 24 घंटे में 1303 की मौत
अमेरिका में 24 घंटे में 1303 लोगों ने दम तोड़ा है। यहां मौतों का आंकड़ा 56 हजार 797 हो गया है। वहीं देश में 10 लाख से ज्यादा मरीज गए हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूयॉर्क स्टेट में दो लाख 98 हजार संक्रमित हैं, जबकि 22 हजार 623 लोगों की जान जा चुकी है।

ट्रम्प ने कहा- हम चीन से खुश नहीं

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि हम चीन से खुश नहीं हैं। वह कोरोना को दुनियाभर में फैलने से पहले ही रोक सकता था। उनका प्रशासन इसकी गंभीर जांच कर रहा है। हमारा मानना है कि महामारी जहां से शुरू हुआ, इसे वहीं रोका जा सकता था। वे चीन से नुकसान की मांग सकते हैं। हाल ही में ट्रम्प से एक जर्मन अखबार के संपादकीय को लेकर सवाल पूछा गया था, जिसमें वायरस से हुए नुकसान के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराते हुए 165 अरब डॉलर का भुगतान करने के लिए कहा गया था। इस पर ट्रम्प ने कहा- जर्मनी चीजों को देख रहा है, हम चीजों को देख रहे हैं और जर्मनी ने जितनी रकम मांगी है, हम उससे ज्यादा की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा- हमने अभी भुगतान की रकम को तय नहीं की है।

न्यूयॉर्क शहर में सड़क से गुजरते दो लोग। शहर में अब तक 11 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

डब्ल्यूएचओ की फंडिंग रोकने के ट्रम्प के फैसले की जांच
अमेरिकी कांग्रेस की समिति ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के डब्ल्यूएचओ की फंडिंग रोकने के फैसले की जांच शुरू कर दी है। अमेरिका के विदेश मामलों की कांग्रेस समिति के अध्यक्ष इलियॉट ऐंजल ने विदेश मंत्रालय से इस फैसले के संबंध में जरूरी सूचना और दस्तावेज चार मई तक समिति के सामने पेश करने की मांग की। ऐंजल ने सोमवार को विदेश मंत्रालय को लिखे अपने पत्र में कहा- महामारी के प्रकोप के बीच ट्रम्प का डब्ल्यूएचओ की फंडिंग रोकने का फैसला बदले की कार्रवाई जैसा है। इसके कारण लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ गई है। डब्ल्यूएचओ की कुछ गलतियां रही हैं, लेकिन संगठन ने कोरोना को लेकर दुनिया के कई देशों की सरकारों के बीच समन्वय स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है।

व्हाइट हाउस में सोमवार को कोरोना पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प।

अर्जेंटीना: 1 सितंबर तक व्यावसायिक उड़ानों पर प्रतिबंध

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, दक्षिण अमेरिकी देश अर्जेंटीना ने सभी कमर्शियल फ्लाइट्स की टिकटों की बिक्री पर सितंबर तक प्रतिबंध लगा दिया है। मार्च से ही देश की सीमा बंद कर दी गई है। अर्जेंटीना की सीमा 15 मार्च से ही बंद है, यहां आने और जाने वाली सभी उड़ानों पर रोक लगाई गई है। इक्वाडोर, पेरू और कोलंबिया समेत कई दक्षिण अमेरिकी देशों ने सभी व्यावसायिक उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इटली: 26 हजार 977 मौतें
इटली में मरने वालों की संख्या 26 हजार 977 हो गई है। वहीं संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 99 हजार 414 पहुंच गई है। दुनिया में अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा मौतें यहीं हुई हैं। इटली के नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेली ने सोमवार को बताया कि 24 घंटे में 333 लोगों ने दम तोड़ा है। सोमवार को संक्रमण के एक हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। देश में 10 मार्च से लागू लॉकडाउन तीन मई तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि, इस बीच कुछ जरूरी चीजों की दुकानों को खोलने की छूट दी गई है। इटली में 21 फरवरी को पहला मामला सामने आया था। यहां का लोम्बार्डी प्रांत ज्यादा प्रभावित है। सरकार चार मई से लॉकडाउन में ढील देने की योजना बना रही है।

रोम में मीडिया से बातचीत करते इटली के प्रधानमंत्री गिउसेप कोंटे। सरकार यहां 4 मई से लॉकडाउन में ढील देने की योजना बना रही है।

न्यूजीलैंड: दो नए मामले, लॉकडाउन में ढील
न्यूजीलैंड में संक्रमण के दो नए मामले सामने के बाद संक्रमितों की 1472 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि देश में महामारी को लेकर सतर्कता स्तर 4 से 3 कर दिया गया है। इसे कम से कम दो सप्ताह तक बनाए रखा जाएगा। 11 मई को समीक्षा के बाद ही आगे का फैसला किया जाएगा। यहां अब तक 19 लोगों की जान जा चुकी है।

पाकिस्तान: सिंध के गवर्नर कोरोना पॉजिटिव
पाकिस्तान के दक्षिणी प्रांत सिंध के गवर्नर इमरान इस्माइन कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्हें प्रधानमंत्री इमरान का करीबी सहयोगी भी माना जाता है। इमरान इस्माइन ने सोमवार रात ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘अल्लाह हमें महामारी इंशाल्लाह से लड़ने की ताकत दे।’’ सिंध में अब तक संक्रमण के 4,956 मामले आए हैं। यहां 6 इंस्पेक्टर समेत 50 पुलिस वाले भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

फ्रांस: 23 हजार से ज्यादा मौत
फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में मरने वालों की संख्या 23 हजार 293 हो गई है। 24 घंटे के दौरान 437 लोगों की मौत हुई है और संक्रमण के 3764 नए मामले सामने आए। यहां अब एक लाख 62 हजार 220 संक्रमित हो गए हैं। यहां अब तक 45 हजार से ज्यादा मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। देश में पिछले दो सप्ताह से मरने वालों की संख्या और नए मामलों में कमी आई है। फ्रांस में 17 मार्च से लॉकडाउन लागू है। फ्रांस के प्रधानमंत्री एडौर्ड फिलीप मंगलवार को संसद में लॉकडाउन से बाहर निकलने के उपायों की रूपरेखा प्रस्तुत करेंगे।

यह तस्वीर पेरिस की है। देश में संक्रमण के नए मामलों और मौतों में कमी आ रही है। 

चीन: संक्रमण के 6 नए मामले

बीजिंग में बच्चों को यूनिवर्सिटी परीक्षा की तैयारी के लिए स्कूल जाने की इजाजत मिली है। शंघाई में हाईस्कूल और मिडिल स्कूल के बच्चे स्कूल जा रहे हैं। वुहान में 6 मई से स्कूल खुलेंगे। वहीं, चीन के स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को बताया कि देश में सोमवार को छह नए मामलों की पुष्टि हुई। इसमें तीन विदेश से आए हुए लोग हैं। अन्य तीन मामले हेइलोंगजियांग प्रांत के हैं। सोमवार को देश में एक भी मौत नहीं हुई है। देश में सोमवार को 81 मरीजों के इस संक्रमण से ठीक होने के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। देश में अब तक 82 हजार 836 संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 4633 लोगों की मौत हो चुकी है।

बीजिंग में मास्क पहनकर स्कूल जाती छात्राएं। चीन के सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर में 6 मई से स्कूल खुलेंगे।

इजरायल: तीन मई से स्कूल खुलेंगे
इजरायल सरकार ने तीन मई से स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोलने का फैसला किया है। पहले चरण में किंडरगार्डन और तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूली कक्षाओं को शुरू किया जाएगा। कक्षाएं छोटे-छोटे समूहों में आयोजित की जाएंगी। इस दौरान साफ-सफाई के अलावा बच्चों के बीच शारीरिक दूरी बनाए रखने की ओर विशेष ध्यान दिया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, 24 घंटे के दौरान देश में संक्रमण के 112 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15 हजार 555 हो गई है। देश में अब तक 204 लोगों की मौत हो चुकी है।

इजराइल की महिला सैनिक मेमोरियल डे पर सैनिकों की कब्रों के पास मास्क पहनकर उन्हें श्रद्धांजलि दे रही हैं।

तुर्की: 1.12 लाख से ज्यादा संक्रमित
तुर्की में एक लाख 12 हजार 261 संक्रमण के मामले हो चुके हैं। यहां करीब 2900 लोगों की मौत हो चुकी है। सोमवार को देश में करीब 95 मौत हुई, जबकि संक्रमण के 2100 नए मामले सामने आए हैं। तुर्की के लिए राहत की बात यह है कि संक्रमण से 33 हजार 791 लोग ठीक भी हो चुके हैं।

नॉर्वे: महामारी नियंत्रण में

नॉर्वे का कहना है कि देश में महामारी नियंत्रण में है। 26 अप्रैल को प्राइमरी स्कूलों को खोल दिया गया। हालांकि, सरकार के इस कदम पर कुछ बच्चों के माता-पिता ने चिंता भी जाहिर की है। वहीं क्लास में केवल 15 छात्र ही बैठ सकेंगे। नॉर्वे में 12 मार्च को देशभर में लॉकडाउन लगाया गया था। हेयर सैलून भी खोले जाने लगे हैं। हालांकि, खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगा है। लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने और साफ रहने की अपील की गई है। प्रधानमंत्री एर्ना सोलबर्ग ने शुक्रवार को कहा था कि हमें सुरक्षा को कम नहीं होने देना चाहिए। प्रसार को नियंत्रित करने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

यह तस्वीर नॉर्वे के एक स्कूल की है। कई हफ्तों के बाद यहां स्कूल फिर से खोले गए हैं। 

ब्राजील: 66 हजार से ज्यादा संक्रमित

लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील में भी कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी वक्तव्य के मुताबिक देश में संक्रमण के अब तक 66 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 4613 नए केस सामने आए हैं। इससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 66 हजार 501 हो गई है। यहां एक दिन में 338 लोगों की मौत हुई। मरने वालों की संख्या बढ़कर 4543 हो गई है।

ब्राजील के पोर्ट एलेग्रे में 66 वर्षीय कोरोना मरीज संक्रमण से ठीक होकर घर जाते। इस दौरान स्वास्थ्यकर्मियों ने ताली बजाकर उन्हें विदाई दी।

नाइजीरिया: राजधानी समेत 3 क्षेत्रों से धीरे-धीरे पाबंदियां हटाई जाएंगी

नाइजीरिया की राजधानी अबुजा समेत चार मई से धीरे-धीरे पाबंदियां हटाई जाएंगी। इन इलाकों में पहली बार 30 मार्च को 14 दिन के लिए प्रतिबंध लगाए गए थे। यहां अब तक 1337 लोग प्रभावित हुए हैं और 40 की मौत हुई है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here