पहले 16 दिन में सिर्फ 38 केस थे, अगले 16 दिन में संक्रमितों की संख्या 185 हुई; मुंगेर के हॉटस्पॉट में भुखमरी की स्थिति

0
8
  • मुंगेर के जमालपुर का सदर बाजार बुरी तरह कोरोना महामारी की जद में
  • प्रशासन ने दुकानदारों के नंबर जारी किए, लेकिन वे सामान भेजने से कतरा रहे

पटना. कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन फेज-2 का आज 11वां दिन है। बिहार में कोरोनो के मरीजों की संख्या 223 हो गई है। राज्य में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। राज्य में कोरोना का पहला मरीज 22 मार्च को मिला था। इसके बाद शुरुआती 16 दिन में 38 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बाद के 16 दिन में 185 नए संक्रमित मिले। इनमें सबसे अधिक 62 मरीज मुंगेर के हैं।

मुंगेर में शुक्रवार को 31 संक्रमित मिले। इनमें से 30 जमालपुर के सदर बाजार के ही हैं। यह इलाका बुरी तरह संक्रमण की चपेट में है। जिला प्रशासन ने यहां 18, 20, 21 और 23 नंबर वार्ड को पूरी तरह सील कर दिया है। यहां जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए 22 दुकानदारों को चिह्नित किया है। प्रशासन ने इनके मोबाइल नंबर जारी किए, लेकिन इनमें कई खामियां हैं। कुछ नंबर बंद हैं, कुछ जिले से बाहर के हैं। कुछ लग भी रहे हैं तो दुकानदार बहाना बना रहा है। ऐसे में अब इस इलाके में लोगों को रोजमर्रा की जरूरतों का सामान नहीं मिल पा रहा है।

बक्सर जिले के नया भोजपुर गांव में तैनात एनडीआरएफ के जवान। यहां शनिवार को दो मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

बक्सर: संक्रमितों की संख्या 20 हुई

बक्सर जिले में संक्रमितों की संख्या 20 हो गई है। शुक्रवार को जिले के नया भोजपुर के 12 संदिग्धों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारी गांव में कैंप कर रहे है। गांव में सैनिटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग की रफ्तार बढ़ा दी गई है।

बिहारशरीफ के कोरोना हॉटस्पॉट इलाके में प्रशासन की ओर से मास्क और साबुन बांटे जा रहे हैं।

नालंदा: प्रोटेक्शन किट के बाद भी एंबुलेंस का ड्राइवर संक्रमित हुआ
नालंदा जिले में शुक्रवार को 3 संक्रमित मिले। इनमें अस्थावां का एक एंबुलेंस ड्राइवर और सकुनत गांव की दो महिलाएं शामिल हैं। प्रोटेक्शन किट में होने के बाद भी एंबुलेंस ड्राइवर का संक्रमित होना स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का विषय है। चालक ने चूक कहां की इसकी जांच की जा रही है। उधर, बिहारशरीफ के संक्रमण प्रभावित वार्डों में नगर निगम और एनडीआरएफ की टीम सैनिटाइजेशन में जुटी हैं।

औरंगाबाद: बुखार का इलाज कराने गया, कोरोना लेकर घर लौटा
औरंगाबाद में दो कोराना पॉजिटिव मिलने के बाद जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है। ओबरा प्रखंड का संक्रमित युवक को सिर्फ वायरल फीवर था। चार दिन पहले वह जमुहार मेडिकल कॉलेज में इलाज कराने पहुंचा। जिस वार्ड में उसे भर्ती किया गया, उसमें रोहतास जिले की पहली कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती थी। यहां वह युवक भी संक्रमित हो गया। दूसरा संक्रमित युवक देव प्रखंड का रहने वाला है। वह तीन दिन पहले दिल्ली से गांव लौटा था।

सीवान के बसंतपुर की बासव पंचायत के रास्ते को बंद करते गांव के लोग।

सीवान: 14 दिन बाद संक्रमण का फिर मामला सामने आया
सीवान में 14 दिन बाद शुक्रवार को कोरोना संक्रमित मिला। यह मरीजगोरेयाकोठी प्रखंड के भिठी गांव का रहने वाला है। उसे टीबी भी है। उसके परिवार के 9 लोगों को क्वारैंटिन किया गया है। भिठी गांव के 3 किलोमीटर की परिधि में आने वाले सभी गांवों को सील कर दिया गया है। संक्रमित युवक भिठी गांव का है। अब जिले में संक्रमितों की संख्या 30 हो गई है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here