Delhi: 5 arrested with three crore banned drugs, two women included | दिल्ली : तीन करोड़ की प्रतिबंधित दवा के साथ 5 गिरफ्तार, दो महिलाएं भी शामिल

0
8


नई दिल्ली, 23 अप्रैल (आईएएनएस)। द्वारका जिले के उत्तम नगर थाना क्षेत्र में पुलिस ने 2 महिलाओं सहित पांच मादक पदार्थ तस्करों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 332 ग्राम एंफीटामाईन दवाई मिली है। यह दवाई बाजार में बिक्री के लिए प्रतिबंधित है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक जब्त प्रतिबंधित दवाई की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अनुमानित कीमत तीन करोड़ रुपये के करीब है।

गुरुवार को आईएएनएस को यह जानकारी द्वारका जिले के डीसीपी अंटो अल्फोंस ने दी। घटनाक्रम के मुताबिक बुधवार को सुबह करीब सात बजे इस गिरोह के बारे में पुलिस को पता चला था। डीसीपी द्वारका ने मादक पदार्थ तस्कर गिरोह के एकदम करीब पहुंचने के लिए सबसे पहले सहायक उप-निरीक्षक प्रवीन को सबसे पहले लगाया गया।

एएसआई प्रवीन को पता चला कि, गैंग के कुछ सदस्य स्मैक जैसा घातक मादक पदार्थ बेचने के लिए उत्तम नगर इलाके में मेट्रो पिलर नंबर 703 (निकट ओम विहार) के पास पहुंचने वाले हैं। इस पुख्ता सूचना के आधार पर एसएचओ इंस्पेक्टर उत्तम नगर थाना राज कुमार और डाबरी सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) बिजेंद्र सिंह को सुपरवीजन के लिए टीम में जोड़ दिया गया।

चूंकि यह गिरोह कई बार पुलिस की नजरों से बच निकला था। लिहाजा हर हाल में इस गिरोह को इस बार दबोचने के लिए पुलिस टीम में सब इंस्पेक्टर रोहताश, गोविंद, सिपाही अजय, जसवंत और महिला सिपाही नीरज को भी जोड़ा गया। महिला सिपाही नीरज को टीम में शामिल करने के पीछे वजह थी कि, मादक पदार्थ तस्करों के इस गिरोह में महिलाओं के भी शामिल होनो की प्रबल संभावनाएं थीं।

ओम विहार फेज-1 के पास जैसे ही संदिग्ध तस्कर मनोज कुमार पहुंचा, पहले से ही आसपास छिपी टीमों ने उसे दबोच लिया। मनोज कुमार के पास से पुलिस को प्लास्टिक की कई छोटी थैलियां (पाउच) मिलीं। जांच में पता चला कि पाउच में 94 ग्राम एंफीटामाईन नामक प्रतिबंधित दवाई है। जोकि नशे के लिए इस्तेमाल की जाती है। मनोज के खिलाफ थाना उत्तम नगर में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया।

मनोज कुमार (24) ने पुलिस को बताया कि, वो मूलत: बिहार का रहने वाला है। फिलहाल इन दिनों ओम विहार फेज एक में किराये के घर में रह रहा है। मनोज ने पुलिस को बताया कि वो एक महिला मादक पदार्थ तस्कर के लिए काम करता है। फिलहाल उस महिला की तलाश में छापे मारे जा रहे हैं।

मनोज की सूचना पर ही डीसीपी द्वारका ने एक और टीम गठित की। टीम में सब इंस्पेक्टर राकेश, एएसआई प्रवीन, सिपाही शंभु और महिला सिपाही निर्मला को शामिल किया गया। इस टीम ने भी छापा मारकर मुकेश नामक तस्कर को दबोच लिया। मुकेश के साथ दो अन्य पुरुष तस्कर व एक महिला तस्कर भी पुलिस टीम के हाथ लग गयी।

मुकेश के पास से 43 ग्राम प्रतिबंधित दवाईयां और 10 हजार 769 रुपये नकद मिले। जबकि महिला तस्कर के पास से 77 ग्राम प्रतिबंधित दवाईयां और 42 हजार 460 रुपये नकद जब्त किये गये। पुलिस पूछताछ में पकड़ी गयी महिला तस्कर ने बताया कि, इस काले कारोबार में उसका पति भी शामिल है। महिला उत्तम नगर इलाके में रहती है।

इसके अलावा उत्तम नगर थाना पुलिस ने मादक पदार्थ तस्कर गिरोह के तीसरे मामले का भी भंडाफोड़ कर दिया। इस तीसरे गिरोह का भंडाफोड़ सब इंस्पेक्टर मोहित, वरुण, हवलदार हजारी, सिपाही दौलत और महिला सिपाही मंजू की टीम ने किया। इस टीम ने एक महिला के साथ गणेश नाम के तस्कर को गिरफ्तार गिया। गणेश के कब्जे से पुलिस को 36 ग्राम प्रतिबंधित दवाईयां मिलीं है। जबकि गिरफ्तार महिला तस्कर ने अपने कब्जे से पुलिस को 82 ग्राम प्रतिबंधित दवाईयों की गोलियां बरामद कराईं। पकड़ी गयी महिला की उम्र 36 साल है। यह महिला तस्कर भी उत्तम नगर इलाके में ही रहती है।

महिला के साथ तीसरे मामले में पकड़ा गया गणेश मूलत: नेपाल का रहने वाला है। गणेश इन दिनों ओम विहार फेज-1 उत्तम नगर इलाके में ही रह रहा था। गणेश भी साथ पकड़ी गयी महिला के लिए ही ड्रग दलाल के रुप में काम करता था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here