खेत में मेड़ और तालाब की तैयारी करें किसान

0
42

बांदा। बुंदेलखंड में वर्षा जल संचयन किसानों के लिए बेहद जरूरी है। यह उनके अच्छे दिन भी ला सकता है। बारिश का मौसम दहलीज पर खड़ा है। ऐसे में किसानों को खेतों मेें मेड़ और तालाब बनाकर बारिश के पानी को संचय करने की कवायदें शुरू कर देनी चाहिए।

यह बात बुंदेलखंड जैविक कृषि फार्म (छनेहरा लालपुर) के संचालक और प्रगतिशील किसान असलम खां ने कही। उन्होंने कहा कि खेत में मेड़ या तालाब न होने से बारिश का पानी खेत की उपजाऊ मिट्टी को बहाकर ले जाता है। पानी मिट्टी दोनों बर्बाद चले जाते है। अगर मेड़बंदी और तालाब बना लिए जाएं तो खेत का पानी खेत में ही रहेगा।
उपजाऊ मिट्टी बहने से बचेगी। इसके अलावा भूजल स्तर में सुधार होगा। खेत के तालाब में मछली, झींका पालन, मोती उत्पादन, सिंघाड़ा, मखाना आदि कृषि कार्य किए जा सकेंगे।
प्रगतिशील किसान ने किसानों से कहा है कि रेन वाटर हार्वेस्टिंग और खेत में मेड़बंदी व तालाब पर गंभीरता से ध्यान दें।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here