बॉलीवुड के ‘गली ब्वॉय’ ने पालघर की घटना पर नाराज़गी जताते हुए लिखा दिल छू लेने वाला रैप!

0
4

बता दें कि व्हाइट हाउस ने सभी भारतीय ट्विटर हैंडल को अनफॉलो किया है. जिसमें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर, अमेरिका में भारतीय दूतावास भी शामिल है.

गौरतलब है कि व्हाइट हाउस पीएम मोदी को 10 अप्रैल से ट्विटर पर फॉलो कर रहा था. इस तरह पीएम मोदी अकेले ऐसे विश्व के नेता थे जिन्हें व्हाइट हाउस फॉलो करता हो. व्हाइट हाउस ने 19 ट्विटर हैंडल को फोलो किया जिसमें सभी गैर अमेरिकी हैंडल भारतीय ही थे.व्हाइट हाउस का पीएम मोदी को फॉलो करना पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच में अच्छे रिश्तों के तौर पर देखा जा रहा था.

महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं के साथ हुई एक दुर्घटना से पूरा देश आवेश में है। हाल ही में जब दो साधु अपने ड्राइवर के साथ अपने गुरु के अंतिम संस्कार के लिए सूरत जा रहे थे तब एक अफवाह के चलते लोगों ने उन्हें घेर लिया। वे उन्हें चोर समझ कर उन पर पत्थर बाज़ी करने लगे। यह पूरी घटना पुलिस के सामने होती रही लेकिन वे कुछ नहीं कर पाए तथा उन्हें बचाने में असमर्थ रहे। नतीजा दोनों साधुओं सहित उनके ड्राइवर की मृत्यु हो गयी।
जैसे ही इस घटना का वीडियो सामने आया लोगों में आक्रोश भर आया। बॉलीवुड सितारे भी इस घटना से बेहद आहत हैं। जावेद अख्तर, अनुपम खेर, रवीना टंडन और फरहान अख्तर सहित कई बड़े सितारों ने इस घटना की निंदा की। इनके बाद अब ‘गली ब्वॉय’ के एक्टर सिद्धांत चतुर्वेदी ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर एक रैप के जरिये अपने अंदर के गुस्से को ज़ाहिर किया है।
सिद्धांत ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर किया। इसमें उन्होंने लिखा है, ‘वो बुजुर्ग, वो लाचार…और लाठियों से हो वार। सब खड़े चुपचाप। ना कोई खबर, ना समाचार। शायद होंगे सब व्यस्त अभी, इस पल, अपने घर…चुप है समाज।’
बता दें की रणवीर सिंह और आलिया भट्ट स्टारर फिल्म ‘गली ब्वॉय’ से सिद्धांत चतुर्वेदी ने बॉलीवुड में अपना डेब्यू किया और इस फिल्म में उनके काम को बहुत पसंद भी किया गया। फिल्म में उन्होंने एक रैपर का किरदार निभाया था और वे असल जीवन में भी काफी अच्छा रैप कर लेते हैं। पालघर की इस घटना पर उनका यह लेख पढ़ कर ये अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि उन्हें इस घटना से कितना दुःख पहुंचा है।
वहीं जावेद अख्तर ने भी नाराज़गी जताते हुए अपने ट्विटर पर लिखा, ‘जो लोग दो साधुओं और उनके चालक की लिंचिंग के लिए जिम्मेदार हैं, उन्हें किसी भी कीमत पर नहीं बख्शा जाना चाहिए। सभ्य समाज में बर्बर और जघन्य अपराध के लिए किसी भी तरह की सहनशीलता नहीं होनी चाहिए।’
अनुपम खेर जो कि वैसे भी अपने बेबाक जवाबों के लिए जाने जाते हैं वे भी अपना गुस्सा जताने से पीछे नहीं हटे। उन्होंने भी दो टूक जवाब देते हुए लिखा, ‘पालघर में तीन साधुओं की मॉब लिंचिंग होना काफी दुखी और भयभीत करने वाला है। आखिर तक वीडियो नहीं देख पाया. ये क्या हो रहा है? ये क्यों हो रहा है। मानवता का जघन्य अपराध है ये।’
इस दुर्घटना का वीडियो देख अचरज होता है। यह समझ पाना मुश्किल हो रहा है कि मानवता हैवानियत में कबसे तब्दील होने लगी?

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here