किशोरी के हाथ पैर बांधकर मरणासन्न हालत में घर के बाहर फेंका

0
12

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव से दो दिन पूर्व लापता किशोरी को गुरुवार सुबह मरणासन्न हालत में घर के बाहर बेहोश हालत में फेंक दिया गया।
उसके हाथ पैर बंधे थे और मुंह में कपड़ा घुसा था। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने किशोरी को बेहोशी हालत में कस्बे के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। तमाम प्रयासों के बाद होश नहीं आने पर सदर अस्पताल रेफर किया गया है। एक गांव से मंगलवार को कक्षा नौ की छात्रा अचानक घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने थाना बिवांर के कुनहेटा पुलिस चौकी में तहरीर दी थी।
इस घटना में पीड़ित परिवार ने गांव के एक युवक को नामित किया था। पीड़ित पक्ष का आरोप था कि पड़ोसी मोनू सिंह ने उसे मोबाइल दिया था और वह उससे बातचीत भी करता रहा है।
मंगलवार को घर सूना देखकर किशोरी को युवक बहला फुसलाकर ले गया। पकड़े जाने के भय से किशोरी को मरणासन्न हालत में हाथ पैर बांधकर उसके घर के बाहर फेंक गया।
कुनेहटा चौकी प्रभारी आरएल सरोज ने बताया कि घटना की जांच पड़ताल कर आरोपी को हिरासत में लिया था। फोन की कॉल डिटेल निकलवाई तो उसमें आरोपी व किशोरी छात्रा के बीच लगातार बातचीत हुई है।
गुरुवार को सुबह करीब 11 बजे उसे घर के बाहर मरणासन्न हालत फेंका है। बताया कि जिस समय किशोरी को घर के बाहर फेंका तब परिजन खेतों में फसल कटाई करने गए थे। कहा कि किशोरी के होश आने पर ही खुलासा होगा। वहीं ग्रामीण किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की आशंका भी जता रहे हैं।.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here