मुंबई-पुणे में 18 मई तक हो सकता है लॉकडाउन

0
6

राज्य के अन्य हिस्सों में 4 मई से लॉकडाउन हट सकता है लेकिन सर्वाधिक कोरोना ग्रस्त मुंबई-पुणे में आगामी 18 मई तक लॉक डाउन जारी रहने की समभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। इन दोनों शहरों में कम से कम कंटेनमेंट जोन में तालाबंदी शुरु रह सकती है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने यह संभावना जताई है।  स्वास्थ्य मंत्री ने मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि कोरोना का प्रभाव बढ़ने से रोकने के लिए लॉकडाउन किया गया है। यदि कोरोना संक्रमितों की संख्या नहीं घटी तो लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा कोई चारा नहीं है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि झोपड़पट्टी इलाकों में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि यह देखना महत्वपूर्ण होगा की सभी कंटेंनमेंट जोन पूरी तरह बंद हैं अथवा नहीं। टोपे ने कहा कि जरुरत पड़ी तो 3 मई के बाद मुंबई-पुणे के कंटेंनमेंट जोन में और 15 दिनों के लिए लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा। हालांकि उन्होंने साफ किया कि यह उनका व्यक्तिगत मत है।  फिलहाल महाराष्ट्र में 512 कंटेनमेंट जोन है। गत एक माह के दौरान मुंबई-पुणे में सर्वाधिक कोरोना मरीज मिले हैं। इस लिए मुंबई-पुणे के हॉटस्पाट में लॉकडाउन जारी रखना होगा। टोपे ने कहा कि हमनें सरकार से मांग कि है कि 18 मई तक लॉकडाउन जारी रखा जाए और 3 मई के बाद भी मुंबई व पुणे के हॉटस्पाट परिसर में गैर महत्वपूर्ण सेवाएं न शुरु की जाए।

प्रवासी मजदूरों की घर वापसी पर पीएम से होगी चर्चा
टोपे ने कहा कि राज्य के प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने की बाबत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली वीडियो कांफ्रेंसिंग में चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि दुकाने खोलने को लेकर केंद्र के ताजा दिशा निर्देश में स्पष्टता नहीं है। सोमवार को प्रधानमंत्री के साथ चर्चा के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here