विदेशी तर्ज पर होंगी ओलंपिक की तैयारियां, साई ने दुनिया के दूसरे खेल संघों से बात करने को कहा

0
51

ख़बर सुनें

लॉकडाउन खुलने के बाद देश में ओलंपिक की तैयारियां शुरू कराने के लिए अब दुनिया भर के खेल संघों की मदद ली जाएगी। साई ने राष्ट्रीय खेल संघों से कहा है कि उनकी तरह दुनिया के दूसरे खेल संघ भी कोराना की महामारी से जूझते हुए अपने यहां खेलों की तैयारियां शुरू करने की योजनाएं बना रहे होंगे। दुनिया भर के इन खेल संघों ने खेलों की तैयारियां शुरू करने की क्या योजनाएं बनाई हैं इस पर उनसे बात की जाए और इसे साई के साथ बांटा जाए। देश में खेलों की तैयारियां और गतिविधियां शुरू कराने में दूसरे देशों के खेल संघों से मिली जानकारी अहम भूमिका निभाएगी। साई ने यही जिम्मा राष्ट्रीय खेल संघों को सौंपा है।

लॉकडाउन के बाद तैयारियां की प्रक्रिया में साई
साई ने साफ किया है कि लॉकडाउन के बाद खेलों की तैयारियां शुरू कराने के लिए उनकी ओर से प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जिसें अंतिम मंजूरी के लिए खेल मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में राष्ट्रीय खेल संघ भी भूमिका निभा सकते हैं। राष्ट्रीय खेल संघ अपने से संबंधित दूसरे देशों के खेल संघों से संपर्क में होंगे। दूसरे देशों के खेल संघों ने खेलों की तैयारियां शुरू कराने को योजनाएं बना ली होंगी या फिर उस दिशा में होंगे। इन खेल संघों से यही बात करनी है कि उन्होंने कोरोना के बाद खिलाडिय़ों की तैयारियों की योजनाओं को किस तरह अंजाम दिया है या फिर इन्हें किस तरह से संचालित किया जाना है। इन्हीं योजनाओं को साई को बताना है।

खेल मंत्री कर चुके हैं पहल
खेल मंत्री किरन रिजीजू पहले ही कह चुके हैं कि मई  माह के अंत में राष्ट्रीय शिविरों को शुरू कर ओलंपिक की तैयारियां शुरू करा दी जाएगीं। वहीं भारतीय ओलंपिक संघ ने भी खेलों की तैयारियों के लिए श्वेत पत्र तैयार करने का जिम्मा राष्ट्रीय खेल संघों को सौंपा है। अब साई ने इसमें एक और कदम आगे बढ़ाते हुए दूसरे देशों की भी मदद लेने की योजना बनाई है।

सार

  • साई ने राष्ट्रीय खेल संघों से दुनिया के दूसरे खेल संघों से बात करने को कहा
  • दूसरे देशों के खेल संघ किस तरह कर रहे हैं तैयारियां शुरू करने पर काम

विस्तार

लॉकडाउन खुलने के बाद देश में ओलंपिक की तैयारियां शुरू कराने के लिए अब दुनिया भर के खेल संघों की मदद ली जाएगी। साई ने राष्ट्रीय खेल संघों से कहा है कि उनकी तरह दुनिया के दूसरे खेल संघ भी कोराना की महामारी से जूझते हुए अपने यहां खेलों की तैयारियां शुरू करने की योजनाएं बना रहे होंगे। दुनिया भर के इन खेल संघों ने खेलों की तैयारियां शुरू करने की क्या योजनाएं बनाई हैं इस पर उनसे बात की जाए और इसे साई के साथ बांटा जाए। देश में खेलों की तैयारियां और गतिविधियां शुरू कराने में दूसरे देशों के खेल संघों से मिली जानकारी अहम भूमिका निभाएगी। साई ने यही जिम्मा राष्ट्रीय खेल संघों को सौंपा है।

लॉकडाउन के बाद तैयारियां की प्रक्रिया में साई

साई ने साफ किया है कि लॉकडाउन के बाद खेलों की तैयारियां शुरू कराने के लिए उनकी ओर से प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जिसें अंतिम मंजूरी के लिए खेल मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में राष्ट्रीय खेल संघ भी भूमिका निभा सकते हैं। राष्ट्रीय खेल संघ अपने से संबंधित दूसरे देशों के खेल संघों से संपर्क में होंगे। दूसरे देशों के खेल संघों ने खेलों की तैयारियां शुरू कराने को योजनाएं बना ली होंगी या फिर उस दिशा में होंगे। इन खेल संघों से यही बात करनी है कि उन्होंने कोरोना के बाद खिलाडिय़ों की तैयारियों की योजनाओं को किस तरह अंजाम दिया है या फिर इन्हें किस तरह से संचालित किया जाना है। इन्हीं योजनाओं को साई को बताना है।

खेल मंत्री कर चुके हैं पहल
खेल मंत्री किरन रिजीजू पहले ही कह चुके हैं कि मई  माह के अंत में राष्ट्रीय शिविरों को शुरू कर ओलंपिक की तैयारियां शुरू करा दी जाएगीं। वहीं भारतीय ओलंपिक संघ ने भी खेलों की तैयारियों के लिए श्वेत पत्र तैयार करने का जिम्मा राष्ट्रीय खेल संघों को सौंपा है। अब साई ने इसमें एक और कदम आगे बढ़ाते हुए दूसरे देशों की भी मदद लेने की योजना बनाई है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here