क्रय केंद्रों पर तीन दिन से चल रहा था मौसम के मिजाज से बचने का काम

0
8

रविवार को हुई बारिश का मौसम विभाग ने पहले ही अनुमान जारी कर दिया था। इसको लेकर क्रय केंद्रों पर खरीदे गए गेहूं को तेजी से एफसीआई गोदाम में शिफ्ट करवाया जा रहा था। मौसम विभाग के अलर्ट के चलते ही विभाग ने करीब 75 फीसदी खरीदा गया गेहूं एफसीआई गोदाम पर भिजवा दिया। इसके बावजूद रविवार को बारिश के कारण कई क्रय केंद्रों पर गेहूं भीग गया। इसमें खुले में पड़ा किसानों का गेहूं भी शामिल है।
रविवार को हुई बारिश ने खेतों में खड़ी गेहूं की फसल और कटी हुई गेहूं की फसल को तो नुकसान पहुंचाया ही साथ ही क्रय केंद्रों पर पड़े गेहूं के भीगने से भी नुकसान की आशंका है। कई किसानों का गेहूं क्रय केंद्र पर पहुंच गया था लेकिन, तौल नहीं पाई थी। इससे यह गेहूं खुले में ही क्रय केंद्र पर पड़ा हुआ था। इसके साथ ही क्रय केंद्रों की ओर से खरीदा गया गेहूं के बोरे भी खुले में रखे हुए थे, हालांकि बारिश आने पर इन्हें तिरपाल से ढक दिया गया लेकिन, इसके बावजूद गेहूं किनारों से भीग गया।
जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी डॉ. अनुपम कुमार निगम ने बताया कि मौसम के पूर्वानुमान के कारण शनिवार तक खरीदे गए 14,800 मीट्रिक टन गेहूं में से 11 हजार मीट्रिक टन से अधिक गेहूं एफसीआई गोदाम में भिजवाया जा चुका है। इसके साथ ही क्रय केंद्रों पर खरीदा गया सभी गेहूं बोरों में तुरंत भर लिया जाता है अधिकतर गेहूं ढका हुआ और टीनशेड में था। इसके बावजूद खुले में रखे गेहूं के बोरे भी तिरपाल से ढके गए थे, क्योंकि मौसम पूर्वानुमान के चलते सभी क्रय केंद्रों के प्रभारियों को बचाव के इंतजाम करने को निर्देशित किया जा चुका था। इसके बावजूद जो भी गेहूं आंशिक रूप से भीगा है उसे मौसम साफ होने पर सुखा लिया जाएगा।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here