रोजेदार घरों में कर रहे इबादत, प्रशासन पहुंचा रहा रसद-मदद

0
8

शनिवार से मुकद्दस माह रमजान की शुरुआत हो गई। रविवार को भी रोजेदारों ने सुबह के वक्त सहरी खाई और इसके बाद नमाज अदा की। रात में तरावीह की नमाज अदा हुई और कलाम- ए- पाक पढ़ा गया। लॉकडाउन के कारण रोजेदारों ने पांच वक्त की नमाज और तरावीह की नमाज घरों में ही पढ़ी। मस्जिदों में पहले से तय इमाम समेत पांच लोगों ने ही नमाज अदा की।
अल्लाह की बेशुमार रहमतों का पाक माह रमजान शनिवार से शुरू हो गया है। रमजान माह में अल्लाह अपने नेक बंदों पर बेशुमार रहमतें बरसाता है। नेक बंदे भी दुनिया की सब बातें भूलकर सिर्फ अल्लाह की इबादत में ही अपना समय गुजारते हैं। इस बार कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लागू लॉकडाउन के चलते मस्जिदों में सिर्फ तयशुदा पांच लोग ही ही नमाज अदा कर रहे हैं, वहीं इस बात को प्रशासन भी सुनिश्चित किए हुए है कि कहीं भीड़ न लगे और सामूहिक नमाज अदा न की जाए।
रोजेदारों की तमाम जरूरतों को लेकर प्रशासन मुस्तैद है और रोजेदारों को सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति घरों पर ही की जा रही है। प्रशासन ने सहरी-इफ्तार के लिए खजले, ब्रेड-पॉव, कचरी-पापड़, नमकीन, फल आदि सभी खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति मोहल्लेवार सभी लोगों को घरों में ही सुनिश्चित की हुई। इसके लिए मोहल्ले वार पास जारी किए गए हैं, पासधारक सभी लोगों को घरों पर सामान दे रहे हैं। इसके साथ ही किसी भी अन्य आवश्यकता और मदद के लिए कंट्रोल रूम नंबर भी लगातार कार्य कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here