विशेष ट्रेन से बांदा आए प्रवासी मजदूर।

0
37

विशेष ट्रेन से बांदा आए प्रवासी मजदूर।

विशेष ट्रेन से बांदा आए प्रवासी मजदूर।

ख़बर सुनें

बांदा। सूरत से आई 9वीं विशेष श्रमिक ट्रेन में गुरुवार को 1699 प्रवासी मजदूर यहां आए। इनमें बुंदेलखंड के 1316 श्रमिक भी शामिल हैं। प्रदेश के 23 अन्य जनपदों सहित मध्य प्रदेश के 31 श्रमिक भी इस ट्रेन से लाए गए हैं। इसे मिलाकर अब तक यहां 16 श्रमिक ट्रेनें आ चुकी हैं। सभी को उनके पैतृक गांव/जनपद क्वारंटीन में भेज दिया गया है।
मंडलायुक्त गौरव दयाल ने बताया कि गुरूवार को श्रमिक विशेष स्पेशल ट्रेन शाम 6.30 बजे सूरत से यहां आई। इनमें सर्वाधिक 798 मजदूर बांदा के थे। इनके अलावा चित्रकूट के 218, हमीरपुर के 188, महोबा के 54, जालौन के 48 व झांसी के 10 श्रमिक भी यहां आए।
इन सभी को रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म-दो पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ उतारा गया। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद 35 रोडवेज बसों से रवाना किया गया। एडीएम संतोष बहादुर, सीओ सिटी आलोक कुमार, एसडीएम सुरजीत सिंह, तहसीलदार अवधेश निगम, एआरएम परमानंद पिल्लई आदि मौजूद रहे।
इन जिलों के भी श्रमिक आए
कानपुर-56, इटावा-17, औरैया-5, उन्नाव-14, कौशाम्बी-7, सुल्तानपुर-9, इलाहाबाद 24, रायबरेली-7, प्रतापगढ़-7, अंबेडकर नगर-2, गोरखपुर-6, आगरा-2, जौनपुर-23, सुल्तानपुर-9, भदोही-9, वाराणसी-4, गाजीपुर-1, लखनऊ-1, बस्ती-2, अमेठी-5, मैनपुरी-9, फर्रूखाबाद-2, एटा-5 और मध्य प्रदेश के 31 श्रमिक शामिल हैं।

बांदा। सूरत से आई 9वीं विशेष श्रमिक ट्रेन में गुरुवार को 1699 प्रवासी मजदूर यहां आए। इनमें बुंदेलखंड के 1316 श्रमिक भी शामिल हैं। प्रदेश के 23 अन्य जनपदों सहित मध्य प्रदेश के 31 श्रमिक भी इस ट्रेन से लाए गए हैं। इसे मिलाकर अब तक यहां 16 श्रमिक ट्रेनें आ चुकी हैं। सभी को उनके पैतृक गांव/जनपद क्वारंटीन में भेज दिया गया है।

मंडलायुक्त गौरव दयाल ने बताया कि गुरूवार को श्रमिक विशेष स्पेशल ट्रेन शाम 6.30 बजे सूरत से यहां आई। इनमें सर्वाधिक 798 मजदूर बांदा के थे। इनके अलावा चित्रकूट के 218, हमीरपुर के 188, महोबा के 54, जालौन के 48 व झांसी के 10 श्रमिक भी यहां आए।

इन सभी को रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म-दो पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ उतारा गया। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद 35 रोडवेज बसों से रवाना किया गया। एडीएम संतोष बहादुर, सीओ सिटी आलोक कुमार, एसडीएम सुरजीत सिंह, तहसीलदार अवधेश निगम, एआरएम परमानंद पिल्लई आदि मौजूद रहे।

इन जिलों के भी श्रमिक आए
कानपुर-56, इटावा-17, औरैया-5, उन्नाव-14, कौशाम्बी-7, सुल्तानपुर-9, इलाहाबाद 24, रायबरेली-7, प्रतापगढ़-7, अंबेडकर नगर-2, गोरखपुर-6, आगरा-2, जौनपुर-23, सुल्तानपुर-9, भदोही-9, वाराणसी-4, गाजीपुर-1, लखनऊ-1, बस्ती-2, अमेठी-5, मैनपुरी-9, फर्रूखाबाद-2, एटा-5 और मध्य प्रदेश के 31 श्रमिक शामिल हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here