संक्रमण से राज्य में 19वीं मौत, नांदेड़ से लौटे 6 श्रद्धालुओं की रिपोर्ट पॉजिटिव; ग्रीन जोन से निकला तरनतारन

0
13
  • शनिवार को पंजाब सरकार की मदद से लाए गए थे तरनातरन जिले कस्बा सुरसिंह के 35 लोग
  • पटियाला के राजिंदरा अस्‍पताल में दम तोड़ने वाली राजपुरा की 63 साल की महिला पहली मरीज थी

जालंधर. पंजाब में कोविड-19 ने सोमवार को एक और मरीज की जान ले ली। पटियाला के राजिंदरा अस्‍पताल में दम तोड़ने वाली राजपुरा की 63 साल की महिला वहां की पहली कोरोना मरीज थी और उसके संपर्क में आने से कई लोग संक्रमित हुए। महिला का कई दिन से यहां इलाज चल रहा था। पटियाला जिले में कोरोना से यह पहली मौत है। जिले में कोरोना के 61 पॉजिटिव केस हैं। साथ ही तरनतारन जिले में 6 लोगों को संक्रमण की पुष्टि होने के बाद अब राज्य में संक्रमितों का आंकड़ा 328 का हो गया है, जिनमें से यह 19वीं मौत है।

सुरसिंह के 5 पुरुष और बासर की एक औरत मिले पॉजिटिव

सोमवार को तरनातरन जिले कस्बा सुरसिंह के 6 व्यक्तियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। गांव 35 लोग नांदेड़ से शनिवार को पंजाब सरकार की मदद से लाए गए थे। इन व्यक्तियों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे, इनमें से सुरसिंह के 5 पुरुष और बासर की एक औरत को कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके ग्रीन जोन के तीन जिलों बठिंडा, फाजिल्का और तरनतारन में से तरनतारन का नाम भी कम हो गया। अब यह जिला ऑरेंज जोन में आ गया है।

अब से पहले जा चुकी 18 जानें, कब कहां हुई मौत?
18 मार्च को नवांशहर जिले के गांव पठलावा के 70 वर्षीय बुजुर्ग पाठी की मौत हुई, जो बीते दिनों जर्मनी से आया था।
29 मार्च को होशियारपुर गांव मोरांवाली के बुजुर्ग पाठी की मौत हो गई। वह नवांशहर के बुजुर्ग पाठी के संपर्क में आने की वजह से संक्रमित हो अमृतसर में भर्ती कराया गया था।
30 मार्च को लुधियाना की 42 साल की महिला की पटियाला के राजिंद्रा अस्पताल में भर्ती कराए जाने और संक्रमण की पुष्टि होने के कुछ ही घंटे बाद मौत हो गई थी।
31 मार्च को चंडीगढ़ पीजीआईएमईआर में भर्ती मोहाली के 65 साल के व्यक्ति ने दम तोड़ दिया।
2 अप्रैल को अमृतसर में भर्ती श्री हरिमंदिर साहिब के पूर्व रागी का भी निधन हो गया।
5 अप्रैल को लुधियाना के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती 69 वर्षीय महिला ने दम तोड़ दिया, जो 31 मार्च को अस्पताल में भर्ती कराई गई थी।
5 अप्रैल को ही पठानकोट जिले के सुजानपुर की 75 वर्षीय महिला की अमृतसर में मौत हो गई। यह जिले का पहला पॉजिटिव केस था।
6 अप्रैल को अमृतसर में नगर निगम से रिटायर हो चुके 65 साल के एक और व्यक्ति ने दम तोड़ दिया।
8 अप्रैल को पीजीआईएमईआर में भर्ती रोपड़ जिले के गांव चतामली 55 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। यह संक्रमण का जिले का पहला मामला था।
8 अप्रैल को बरनाला की एक महिला की भी मौत हुई। उसकी रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव आई थी।
8 अप्रैल को मोहाली जिले की दूसरी मौत एक महिला की हुई। पहले रिपोर्ट निगेटिव आई थी, जबकि मौत के बाद नमूना पॉजिटिव आया।
9 अप्रैल गुरुवार की सुबह जालंधर में कांग्रेसी नेता के 59 वर्षीय पिता ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।
9 अप्रैल को जालंधर जिले के शाहकोट में मरी महिला की रिपोर्ट 13 अप्रैल को पॉजिटिव आई।
16 अप्रैल को अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में गुरदासपुर जिले के गांव भैणी पसवाल का रिटायर्ड टीचर ने दम तोड़ दिया।
17 अप्रैल को लुधियाना जिले के सब डिविजन पायल निवासी कोरोना पॉजिटिव 58 वर्षीय कानूनगो गुरमेल की मौत हो गई।
18 अप्रैल को लुधियाना में 24 घंटे के भीतर दूसरी मौत एसीपी अलिल कोहली की दर्ज की गई थी।
23 अप्रैल को राज्य में 17वीं दर्ज की गई फगवाड़ा की 6 महीने की बच्ची को दिल में छेद की शिकायत के चलते पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती कराया गया था और 26 घंटे में ही इसकी मौत हो गई। राज्य में तक यह सबसे कम उम्र की मौत थी।
25 अप्रैल को जालंधर शहर में तीसरी मौत मूल रूप से महाराष्ट्र के निवासी 48 वर्षीय सहदेव की हुई। वह यहां बस्ती गुजां में रहता था। 4 दिन से वह एक प्राइवेट अस्पताल दाखिल था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here