पलिया के क्वारंटीन केंद्रों में रुके 322 नेपालियों को भेजवाया घर

0
65

ख़बर सुनें

लखीमपुर खीरी/ पलियाकलां। लॉकडाउन के चलते पलिया इलाके में बनाए गए क्वारंटीन केंद्रों में रुके 322 नेपालियों को शुक्रवार को प्रशासन ने बसों से गौरीफंटा बार्डर तक भेजवाने की व्यवस्था की। नेपाल के नेपालियों को प्रवेश देने की अनुमति देने के बाद सभी को बसों से बॉर्डर तक भेजा गया। जहां नेपाल की तरफ चेकअप के बाद उनको घरों के लिए रवाना किया गया। इसी प्रकार से नेपाल से लौटे भारतीयों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। यह जानकारी डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने यहां दी।
गौरीफंटा। शुक्रवार को बलदेव वैदिक इंटर कॉलेज, पलिया मांटेसरी स्कूल और जिला पंचायत बालिका इंटर कॉलेज में डेढ़ माह से रुके हुए नेपालियों को सात बसों से बॉर्डर तक लाया गया। जहां से उन्हें बार्डर पर लाया गया। त्रिनगर भंसार पर नेपाल जाने वाले लोगों का स्वास्थ्य चेकअप किया गया। उधर धनगढ़ी में फंसे 133 भारतीय लोगों की लिस्ट दी गई थी जो फिलहाल बॉर्डर पर आकर एकत्र हो गए हैं। जिन्हें भारत लाने के इंतजाम किए जा रहे हैं। इनका स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है। बॉर्डर से नेपालियों को भेजने के समय एसडीएम पूजा यादव, तहसीलदार आशीष कुमार सिंह, सीओ राकेश कुमार नायक, एसएसबी डिप्टी कमांडेंट संजय यादव, सहायक कमांडेंट वीपीएस चौहान, हरवंश सिंह, प्रभारी निरीक्षण रमेश चंद्र आदि मौजूद रहे। बताया गया कि पलिया के समाजसेवी रवि गुप्ता के प्रयासों के कारण ही दोनों देशों के लोगों को प्रशासन के सहयोग से भेजा गया है।

लखीमपुर खीरी/ पलियाकलां। लॉकडाउन के चलते पलिया इलाके में बनाए गए क्वारंटीन केंद्रों में रुके 322 नेपालियों को शुक्रवार को प्रशासन ने बसों से गौरीफंटा बार्डर तक भेजवाने की व्यवस्था की। नेपाल के नेपालियों को प्रवेश देने की अनुमति देने के बाद सभी को बसों से बॉर्डर तक भेजा गया। जहां नेपाल की तरफ चेकअप के बाद उनको घरों के लिए रवाना किया गया। इसी प्रकार से नेपाल से लौटे भारतीयों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। यह जानकारी डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने यहां दी।

गौरीफंटा। शुक्रवार को बलदेव वैदिक इंटर कॉलेज, पलिया मांटेसरी स्कूल और जिला पंचायत बालिका इंटर कॉलेज में डेढ़ माह से रुके हुए नेपालियों को सात बसों से बॉर्डर तक लाया गया। जहां से उन्हें बार्डर पर लाया गया। त्रिनगर भंसार पर नेपाल जाने वाले लोगों का स्वास्थ्य चेकअप किया गया। उधर धनगढ़ी में फंसे 133 भारतीय लोगों की लिस्ट दी गई थी जो फिलहाल बॉर्डर पर आकर एकत्र हो गए हैं। जिन्हें भारत लाने के इंतजाम किए जा रहे हैं। इनका स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है। बॉर्डर से नेपालियों को भेजने के समय एसडीएम पूजा यादव, तहसीलदार आशीष कुमार सिंह, सीओ राकेश कुमार नायक, एसएसबी डिप्टी कमांडेंट संजय यादव, सहायक कमांडेंट वीपीएस चौहान, हरवंश सिंह, प्रभारी निरीक्षण रमेश चंद्र आदि मौजूद रहे। बताया गया कि पलिया के समाजसेवी रवि गुप्ता के प्रयासों के कारण ही दोनों देशों के लोगों को प्रशासन के सहयोग से भेजा गया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here