चंडीगढ़ः कूड़े में नवजात को फेंकने वाला पिता गिरफ्तार, बोला- मृत थी, दफनाने जा रहा था जंगल

0
45

ख़बर सुनें

गत 13 मई को रामदरबार फेस-2 स्थित कूड़े के ढेर में 3 दिन की नवजात बच्ची को फेंकने के आरोपी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में पिता श्रीप्रकाश ने बताया कि बच्ची मृत पैदा होने पर जंगल में दफनाने जा रहा था, लेकिन पीसीआर को देखकर लगा कि बच्ची का कोरोना सैंपल लिया जाएगा। उसे क्वारंटीन रहना पड़ेगा। इस डर से कूड़े के ढेर में फेंककर फरार हो गया।

सेक्टर 31 थाना पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। बीते 13 मई को सुबह करीब 9 बजे पुलिस को सूचना मिली कि राम दरबार में कूड़े के ढेर में एक नवजात का शव पड़ा हुआ है। पीसीआर समेत सेक्टर 31 थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर नवजात को अस्पताल पहुंचाया। उस दिन सुबह कूड़ा उठाने वाले एक शख्स ने नवजात बच्ची को लिफाफे में लिपटा हुआ देखा।

इसी बीच पड़ोसियों में चर्चा शुरू हो गई कि श्रीप्रकाश के घर बच्ची पैदा हुई थी। सेक्टर 31 थाना प्रभारी राजदीप सिंह की अगुवाई में पुलिस ने टीम गठित कर दी। पुलिस श्रीप्रकाश के घर पहुंची और पूछताछ में खुलासा हो गया।
श्रीप्रकाश ऑटो चालक है। वह राम दरबार फेस-2 में पत्नी व 17 साल की बेटी और 15 साल के बेटे के साथ रहता है। बीते 13 मई को उसके घर मृत बच्ची ने जन्म लिया। श्रीप्रकाश बच्ची को दफनाने जा रहा था। पीसीआर देखकर वह काफी देर तक बच्ची को लेकर खड़ा रहा, लेकिन काफी इंतजार के बावजूद जब पीसीआर नहीं गई तो कूड़े के ढेर में फेंक कर फरार हो गया।

बच्ची की मां थी बेहोश
बच्ची को दफनाने ले जाने के दौरान उसकी मां बेहोश थी। अब आरोपी पिता पुलिस से माफी की गुहार लगा रहा है। सेक्टर 31 थाना पुलिस देर रात तक आरोपी से पूछताछ करती रही। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। वहीं, जब इस बात का खुलासा आस-पड़ोस के लोगों को हुआ था तो सभी हैरान थे कि आखिरकार कोई पिता अपनी ही मासूम बच्ची को कैसे कूड़े के ढेर में फेंक सकता है।

गत 13 मई को रामदरबार फेस-2 स्थित कूड़े के ढेर में 3 दिन की नवजात बच्ची को फेंकने के आरोपी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में पिता श्रीप्रकाश ने बताया कि बच्ची मृत पैदा होने पर जंगल में दफनाने जा रहा था, लेकिन पीसीआर को देखकर लगा कि बच्ची का कोरोना सैंपल लिया जाएगा। उसे क्वारंटीन रहना पड़ेगा। इस डर से कूड़े के ढेर में फेंककर फरार हो गया।

सेक्टर 31 थाना पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। बीते 13 मई को सुबह करीब 9 बजे पुलिस को सूचना मिली कि राम दरबार में कूड़े के ढेर में एक नवजात का शव पड़ा हुआ है। पीसीआर समेत सेक्टर 31 थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर नवजात को अस्पताल पहुंचाया। उस दिन सुबह कूड़ा उठाने वाले एक शख्स ने नवजात बच्ची को लिफाफे में लिपटा हुआ देखा।

इसी बीच पड़ोसियों में चर्चा शुरू हो गई कि श्रीप्रकाश के घर बच्ची पैदा हुई थी। सेक्टर 31 थाना प्रभारी राजदीप सिंह की अगुवाई में पुलिस ने टीम गठित कर दी। पुलिस श्रीप्रकाश के घर पहुंची और पूछताछ में खुलासा हो गया।

पीसीआर को खड़ा देख किया काफी इंतजार

श्रीप्रकाश ऑटो चालक है। वह राम दरबार फेस-2 में पत्नी व 17 साल की बेटी और 15 साल के बेटे के साथ रहता है। बीते 13 मई को उसके घर मृत बच्ची ने जन्म लिया। श्रीप्रकाश बच्ची को दफनाने जा रहा था। पीसीआर देखकर वह काफी देर तक बच्ची को लेकर खड़ा रहा, लेकिन काफी इंतजार के बावजूद जब पीसीआर नहीं गई तो कूड़े के ढेर में फेंक कर फरार हो गया।

बच्ची की मां थी बेहोश
बच्ची को दफनाने ले जाने के दौरान उसकी मां बेहोश थी। अब आरोपी पिता पुलिस से माफी की गुहार लगा रहा है। सेक्टर 31 थाना पुलिस देर रात तक आरोपी से पूछताछ करती रही। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है। वहीं, जब इस बात का खुलासा आस-पड़ोस के लोगों को हुआ था तो सभी हैरान थे कि आखिरकार कोई पिता अपनी ही मासूम बच्ची को कैसे कूड़े के ढेर में फेंक सकता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here