फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए अपनाएं यह आसान उपाय

0
8
फंगल इंफेक्शन आमतौर पर स्किन, नेल्स व हेयर पर होने वाला संक्रमण है। एथलीट, यीस्ट इंफेक्शन और दाद आदि फंगल इंफेक्शन का ही एक उदाहरण है। त्वचा के अलग−अलग भाग पर इसके अलग−अलग लक्षण देखे जाते हैं। जैसे खोपड़ी से यह एक छोटे से दाने के रूप में शुरू होता है और बाद में थोड़े से स्थान में बाल टूटकर गिर जाते हैं, जिससे वह स्थान एकदम खाली नजर आता है। इसी तरह, स्किन पर यह रिंग शेप्ड आकार में नजर आता है। वैसे तो फंगल इंफेक्शन का इलाज है, लेकिन कहते हैं ना कि इलाज से बचाव बेहतर है। इसलिए आप भी फंगल इंफेक्शन से बचने का प्रयास करें। तो चलिए आज हम आपको फंगल इंफेक्शन से बचने के कुछ आसान उपायों के बारे में बता रहे हैं−
 

इसे भी पढ़ें: इन टिप्स को अपनाने के बाद हाथ−पैर नहीं होंगे सुन्न

स्किन को रखें सूखा
फंगल इंफेक्शन को पनपने और बढ़ने के लिए गर्म और नम जगह की जरूरत होती है। इसलिए अपनी त्वचा को खासतौर से बगल आदि क्षेत्र को साफ व सूखा रखें।
क्लीनिंग पर फोकस
अगर आप फंगल इंफेक्शन को खुद से दूर रखना चाहते हैं तो आपको साफ−सफाई का खास ध्यान रखना चाहिए। अपने हाईजीन पर फोकस करके आप फंगल इंफेक्शन से बचाव कर सकते हैं। जैसे बगीचे या खेतों में काम करने के बाद आप अच्छी तरह अपने हाथ−पैरों को क्लीन करें, क्योंकि आप सीधे ही मिट्टी के संपर्क में आते हैं।
पाउडर का इस्तेमाल
अगर आपको फंगल इंफेक्शन की समस्या रहती है तो आप एंटी−फंगल पाउडर का नियमित रूप से उपयोग करें। एंटी−फंगल पाउडर ना सिर्फ आपकी स्किन को सूखा रखता है, बल्कि यह फंगल इंफेक्शन को दूर करने में भी सहायक होता है।
 

इसे भी पढ़ें: जानिए, गर्भावस्था में महिला को कितनी देर सोना चाहिए

बरतें यह सावधानी
अंडरवियर व मोजे की जोड़ी को हर दिन बदलें। इसके अलावा, अगर आपको बहुत पसीना आता है तो आप सिंथेटिक से बने बहुत मोटे व टाइटफिट कपड़े पहनने से बचें। सिंथेटिक सामग्री से बने कपड़ों की जगह सूती कपड़े पहनें।
अगर किसी व्यक्ति को फंगल इंफेक्शन है तो कपड़े, बिस्तर, चादर यहां तक कि बर्तनों को भी साझा करने से बचें। दरअसल, सीधे संपर्क के माध्यम से फंगल त्वचा संक्रमण तेजी से फैलने का कारण बन सकता है।
उन जानवरों से दूर रहें, जिन्हें फंगल इंफेक्शन है या उसके लक्षण नजर आ रहे हैं।
अगर आपको किसी तरह का फंगल इंफेक्शन है तो आप इसका इलाज तुरंत करें। इससे फंगल इंफेक्शन शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने या दूसरों को फैलने से रोकेंगे। 
मिताली जैन

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here