कोरोना इंश्योरेंस के दायरे में लाए जाएंगे खिलाड़ी, खेल संघों ने मंत्रालय और साई के समक्ष उठाया मुद्दा

0
45

ख़बर सुनें

लॉकडाउन के बाद तैयारियां शुरू कराने के खिलाड़ियों को कोविड-19 इंश्योरेंस के दायरे में लाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। खेल संघों ने तैयारियों के लिए तैयार दिशा निर्देशों में खेल मंत्रालय और साई से कैंप में शामिल सभी खिलाड़ियों का कोविड-19 इंश्योरेंस कराने के लिए कहा है। यही नहीं साई ने भी इस दिशा में काम शुरू कर दिया है। वहीं कैंप में शामिल एथलीटों को सलाह दी गई है कि कोई भी खिलाड़ी कैंपस से बाहर न तो बाल कटाने जाए और न ही ब्यूटीपार्लर जाए। खेल संघों की ओर से तैयार दिशा निर्देशों में यह भी कहा गया है कि कैंप के दौरान कोई भी खिलाड़ी अगर सरकार और मंत्रालय की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन नहीं करता है तो उसे कैंप से निकाल दिया जाएगा।

कैंप में होता है खिलाड़ियों का सामान्य बीमा
बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) में कहा गया है कि कोरोना  के दौर में कैंप में शामिल खिलाड़ियों के बीमा में कोविड-19 को जोडना आवश्यक है। साई की ओर से कैंप में शामिल खिलाड़ियों को पांच लाख रुपये का सामान्य और 25 लाख रुपये का सड़क दुर्घटना बीमा कराया जाता है। अब इसमें कोविड-19 को जोडने की तैयारी शुरू हो गई है। साई के एक अधिकारी का कहना है कि बीमा में कोरोना को जोडना जरूरी है। इस पर काम चल रहा है। बीएफआई ने ही सरकार और मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने वाले खिलाड़ियों को कैंप से निष्कासित किए जाने को कहा है। यही नहीं कई खेल संघों ने एक कमरे में एक ही खिलाड़ी को रुकाने के लिए कहा है। एथलीटों ने खुलासा किया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्हें एनआईएस के बाहर बाल नहीं कटाने और ब्यूटी पार्लर नहीं जाने के लिए कहा गया है।

कैंप के लिए दिशा निर्देश तैयार मंजूरी मिलना बाकी
तैयारियों के लिए खेल मंत्रालय की ओर से गठित छह सदस्यीय कमेटी ने दिशा निर्देशों का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है, लेकिन इसे अभी अंतिम मंजूरी मिलना बाकी है। कमेटी की ओर तैयार एसओपी को स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय को भेजा जाएगा। इन दोनों मंत्रालयों की मंजूरी के बाद ही कैंपों में तैयारी का रास्ता खुल सकेगा। तैयारियों  के खेलों को तीन वर्गों में बांटा गया है। ए वर्ग में शामिल नॉन कांटेक्ट खेल वेटलिफ्टिंग, तीरंदाजी, टेबल टेनिस, लॉन टेनिस, बैडमिंटन, शूटिंग, साइकिलिंग, एथलेटिक्स जैसे खेलों की ट्रेङ्क्षनग पहले शुरू कराई जा सकती है। यही नहीं तैयारियां ग्रुपों और शिफ्ट में, दूरी बनाकर, उपकरणों को सैनीटाइज कर होंगी। बाहर से आने वाले 5 दिन के लिए कोरेंटाइन किए जाएंगे, साथ ही रेड जोन से आने वाले 14 दिन के लिए कोरेंटाइन होंगे। सभी को कोरोना टेस्ट के बाद कैंप में शामिल होने  की छूट होगी। सभी के लिए आरोग्य सेतु अनिवार्य होगा। सभी ट्रेनिंग सेंटरों में कोविड-19 टास्क फोर्स गठित करने की सिफारिश हुई है।

लॉकडाउन के बाद तैयारियां शुरू कराने के खिलाड़ियों को कोविड-19 इंश्योरेंस के दायरे में लाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। खेल संघों ने तैयारियों के लिए तैयार दिशा निर्देशों में खेल मंत्रालय और साई से कैंप में शामिल सभी खिलाड़ियों का कोविड-19 इंश्योरेंस कराने के लिए कहा है। यही नहीं साई ने भी इस दिशा में काम शुरू कर दिया है। वहीं कैंप में शामिल एथलीटों को सलाह दी गई है कि कोई भी खिलाड़ी कैंपस से बाहर न तो बाल कटाने जाए और न ही ब्यूटीपार्लर जाए। खेल संघों की ओर से तैयार दिशा निर्देशों में यह भी कहा गया है कि कैंप के दौरान कोई भी खिलाड़ी अगर सरकार और मंत्रालय की ओर से जारी दिशा निर्देशों का पालन नहीं करता है तो उसे कैंप से निकाल दिया जाएगा।

कैंप में होता है खिलाड़ियों का सामान्य बीमा

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) में कहा गया है कि कोरोना  के दौर में कैंप में शामिल खिलाड़ियों के बीमा में कोविड-19 को जोडना आवश्यक है। साई की ओर से कैंप में शामिल खिलाड़ियों को पांच लाख रुपये का सामान्य और 25 लाख रुपये का सड़क दुर्घटना बीमा कराया जाता है। अब इसमें कोविड-19 को जोडने की तैयारी शुरू हो गई है। साई के एक अधिकारी का कहना है कि बीमा में कोरोना को जोडना जरूरी है। इस पर काम चल रहा है। बीएफआई ने ही सरकार और मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने वाले खिलाड़ियों को कैंप से निष्कासित किए जाने को कहा है। यही नहीं कई खेल संघों ने एक कमरे में एक ही खिलाड़ी को रुकाने के लिए कहा है। एथलीटों ने खुलासा किया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्हें एनआईएस के बाहर बाल नहीं कटाने और ब्यूटी पार्लर नहीं जाने के लिए कहा गया है।

कैंप के लिए दिशा निर्देश तैयार मंजूरी मिलना बाकी
तैयारियों के लिए खेल मंत्रालय की ओर से गठित छह सदस्यीय कमेटी ने दिशा निर्देशों का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है, लेकिन इसे अभी अंतिम मंजूरी मिलना बाकी है। कमेटी की ओर तैयार एसओपी को स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय को भेजा जाएगा। इन दोनों मंत्रालयों की मंजूरी के बाद ही कैंपों में तैयारी का रास्ता खुल सकेगा। तैयारियों  के खेलों को तीन वर्गों में बांटा गया है। ए वर्ग में शामिल नॉन कांटेक्ट खेल वेटलिफ्टिंग, तीरंदाजी, टेबल टेनिस, लॉन टेनिस, बैडमिंटन, शूटिंग, साइकिलिंग, एथलेटिक्स जैसे खेलों की ट्रेङ्क्षनग पहले शुरू कराई जा सकती है। यही नहीं तैयारियां ग्रुपों और शिफ्ट में, दूरी बनाकर, उपकरणों को सैनीटाइज कर होंगी। बाहर से आने वाले 5 दिन के लिए कोरेंटाइन किए जाएंगे, साथ ही रेड जोन से आने वाले 14 दिन के लिए कोरेंटाइन होंगे। सभी को कोरोना टेस्ट के बाद कैंप में शामिल होने  की छूट होगी। सभी के लिए आरोग्य सेतु अनिवार्य होगा। सभी ट्रेनिंग सेंटरों में कोविड-19 टास्क फोर्स गठित करने की सिफारिश हुई है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here