लारा दत्ता और रिंकू राजगुरु की धमाकेदार वापसी, हंड्रेड वेब सीरीज में मिलेगा फुल एंटरटेनमेंट

0
72

खूबसूरती का सरताज पहन चुकीं लारा दत्ता कुछ फिल्में करने के बाद बॉलीवुड से गायब हो गई थी। कभी-कभी थोड़ी बहुत अपडेट उनकी सोशल मीडिया से मिल जाती थी। अब लंबे समय बाद लारा दत्ता ने एक दमदार वापसी की है। लारा ने हॉटस्टार की हंड्रेड वेबसीरिज़ से डिजिटल डेब्यू किया है। हंड्रेड नाम की इस वेबसीरिज़ में लारा के अलावा सैराट फिल्म वाली रिंकू राजगुरु भी नजर आ रही है। वेबसीरिज़ में इसके अलावा करण वाही, सुधांशु पांडे, परमीत सेठी, रोहिणी हट्टंगडी, मकरंद देशपांडे जैसे कई कलाकार हैं। अगर आप भी हंड्रेड वेबसीरिज़ देखने का मन बना रहे हैं को जान लीजिए कैसी है लारा और रिंकू की हंड्रेड वेबसीरिज़।

कहानी

हंड्रेड वेबसीरिज़ की कहानी दो औरतों के इर्द-गिर्द है। सोम्या शुक्ला (लारा दत्ता) मुंबई पुलिस की एसीपी हैं। उनके अंदर शानदार पुलिस ऑफिसर वाले गुण है। वह बड़े-बड़े क्राइम केस सॉल्व कर लेती हैं  उनके खबरी भी मुंबई के कोने-कोने में हैं। समस्या ये है कि पुलिस डिपार्टमेंट सोम्या को आगे नहीं बढ़ने देना चाहता। सोम्या को उनके हैड हमेशा क्राइम या फिर बड़े केस से दूर कर देते हैं और सोम्या को एक आइटम गर्ल की तरह डिपार्टमेंट में यूज किया जाता है। कोई मंत्री आता है तो सोम्या को उनकी आओभगत ने लगा दिया जाता है तो कभी फिट रहने के टिप्स पुलिस की तरफ से सोम्या डांस करके देती हैं सोशल मेसेज के तौर पर। इस सब से सोम्या काफी परेशान है। वह अपने जोन के छोटे-मोटे केस ही अभी सोल्व करती हैं। वह कुछ बड़ा करना चाहती है ताकि उनका भी  मीडिया में नाम हो। वह अपने इस सपने को पूरा करने के लिए हर तरह की कोशिश करती हैं। डेढ़ा-मेढ़ा हर रास्ता अपनाती हैं। डिपार्टमेंट की नाम के नीचे से वह बड़े-बड़े केस सोल्व कर देती हैं।

इसके अलावा दूसरा किरदार है नेत्रा (रिंकू राजगुरु) का। नेत्रा एक मध्यम वर्गीय परिवार की लड़की है जो अपने पापा, दादा और भाई की देखभाल करती हैं। वह पूरे घर में अकेली कमाने वाली हैं। नेत्रा की जिन्दगी ऐसे ही निकल रही है बिना किसी रंग के… एक दिन ऑफिस में नेत्रा बेहोश हो जाती है लोग उन्हें डॉक्टर के पास ले जाते है और उन्हें अचानक पता चलता है कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है उनके पास केवल 100 दिन बचें है। इस बात से हैरान नेत्रा के पैरों के नीचे से जमीन खिसक जाती है। नेत्रा इतनी परेशान हो जाती है कि वह पहली बार शराब पीने के लिए एक ढाबें पर आती हैं। एक टिप मिलने के कारण सोम्या भी यहां पर केस के सिलसिले में आती है। इस दौरान नेत्रा से सोम्या की मजेदार मुलाकात होती हैं। इस मुलाकात से नेत्रा पूरी तरह बदल जाती हैं। नेत्रा अपनी जिंदगी में बहुत कुछ करना चाहती हैं लेकिन जिम्मेदारियों के कारण कुछ नहीं कर पाती। अब जब उनके पास कम जिंदगी है तो वह अपने सपनो की लिस्ट बनाने लगी है। नेत्रा को खतरों से खेलने में काफी मजा आता है। अब वह सोम्या के साथ काम करने लगती है। सोम्या भी अपने काम के लिए नेत्रा का खूब इस्तेमाल करती हैं। 8 एपिसोड की इस सीरिज में नेत्रा और सोम्या कई केस कठनाइयों के बाद भी सोल्व करती हैं। इस दौरान नेत्रा की जिंदगी कई बार दाव पर लगती हैं लेकिन नेत्रा सोम्या पर बहुत भरोसा करती हैं।

इस दिलचस्प कहानी में तब मोड़ आता है जब सोम्या को पता चलता है कि नेत्रा बिलकुल ठीक है उन्हें डॉक्टर ने गलत जानकारी दी थी। यहां से कहानी बदल जाती है। इसके आगे क्या होता है उसके लिए आप सीरीज देखिए।

हंड्रेड वेबसीरिज़ रिव्यू

डायरेक्शन

रूचि नारायन, आशुतोष शाह, ताहिर शब्बीर ने मिल कर वेबसीरिज का डायरेक्शन किया है। पुलिसों की पृष्टभूमि पर बनीं इस सीरिज में दिखाया गया है कि महिला-पुरूष में कैसे कई बार कुछ छोटी मानसिकता वाले लोग फर्क करने लगते हैं। एक महिला ऑफिसर को डीसीपी क्राइम केस और माफिया केस नहीं देता। इसके साथ-साथ कैसे एक अनचाहे और बिना प्यार वाले रिश्ते को सोम्या निभा रही हैं वह भी बड़ी ही बारीकी से दिखाया गया है। सोम्या के साथ डिमार्टमेंट में जो कुछ होता है उसके पीछे उनके पति होते हैं। सोम्या को वह अपने से आगे बढ़ता नहीं देखना चाहते। इस तरह की परेशानियां आज हमारे समाज में देखी जाती है। फिल्म में बिना कुछ आदर्शवादी तरीके से सच को दिखाने की कोशिश की गई है। सोम्या के साथ भले डिपार्टमेंट गलत करता हो लेकिन वह अपना हक छिनना जानती हैं। नारीवादी इस सीरिज में महिला को अबला न दिखा कर एक होशियार महिला के तौर पर दिखाया है जो किसी की परवाह वहीं करती।

कलाकार

लारा दत्ता तो है ही अच्छी एक्ट्रेस लेकिन रिंकू राजगुरु ने अपनी दमदार एक्टिंग से दिल जीत लिया। रिंकू राजगुरु मराठी फिल्मों की एक्ट्रेस है वह फिल्म सैराट से मशहूर हुई थी। अभी तक उन्होंने ज्यादा फिल्मों में काम नहीं किया है लेकिन हंड्रेड वेबसीरिज़ में उन्होंने लाजवाब एक्टिंग की हैं। जब भी वह स्क्रिन पर आती है और मराठी अंदाज में हिंदी बोलती हैं वह उनके किरदार को परफेक्ट बनाता हैं। लाता की बात करें तो उन्होंने अपनी भूमिका में अच्छा काम किया हैं। करण वाही, सुधांशु पांडे, परमीत सेठी, मकरंद देशपांडे भी अपने काम से प्रभावित करते हैं। रोहिणी हट्टंगडी छोटे रोल में नजर आईं।

कुछ कमियों के बावजूद ‘हंड्रेड’ इतनी दिलचस्पी तो जगा देता है कि दूसरे सीज़न का इंतजार किया जा सकता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here