कश्मीर में सुरक्षाबलों के हाथों मारे गए 3 आतंकियों को टीआरएफ ने अपना बताया

0
6

कश्मीर में सोमवार को भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा मारे गए तीनों आतंकवादी प्रतिबंधित पाकिस्तानी आतंकी समूह लश्कर-ए-तैयबा के नए गठित मोर्चे द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के थे।

टीआरएफ कमांडर हमजा द्वारा जारी एक बयान में, समूह ने तीनों आतंकवादियों की पहचान अफ्फान (परवेज), अनस (आसिफ) और मरसद (बिलाल) के रूप में की।

हालांकि, टीआरएफ के बयान में यह नहीं बताया गया है कि वे कैसे और कहां मारे गए थे लेकिन सूत्रों ने कहा कि टीआरएफ का संदर्भ उन तीन अज्ञात आतंकवादियों के बारे में है, जो सोमवार को कुलगाम जिले के काजीगुंड के लोअरमुंडा इलाके में सुरक्षा बलों के आतंकवाद-रोधी अभियान में मारे गए थे।

हमजा ने टीआरएफ लेटरहेड पर बयान जारी किया जिसमें तलवारों के लोगो के साथ हरे रंग का मास्टहेड है। तीनों आतंकवादियों की हत्या पर शोक जताते हुए हमजा ने इसे रमजान के इस पवित्र महीने में शहादत के रूप में बताकर खुद को दिलासा दिया।

बयान में कहा गया कि अल्लाह हमारे भाइयों के इस सर्वोच्च बलिदान को स्वीकार करें।

हमजा ने कहा, हमारे दिल में दर्द है, लेकिन हमें यह भी याद रखना चाहिए कि इस दुनिया में जो भी आता है, उसे एक दिन इसे छोड़कर जाना होगा।

टीआरएफ का गठन आईएसआई द्वारा पाकिस्तान की सीमा पार आतंकवाद को कश्मीर में घरेलू तौर पर पनपे आतंकवाद के रूप में दर्शाने के लिए किया गया है। ऐसा आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान पर वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) के दबाव के कारण है।

भारतीय जांच एजेंसियों ने पिछले महीने कश्मीर में टीआरएफ के अस्तित्व की तब पुष्टि की थी जब सुरक्षाबलों ने आतंकी समूह के छह सदस्यों को भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद के साथ गिरफ्तार करके इसके एक प्रमुख मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here